• --New-- Click here to Watch News channel online.
  • मानवता की धरती है अयोध्या: योगी आदित्यनाथ | Rubaru news
    Powered by Blogger.

    मानवता की धरती है अयोध्या: योगी आदित्यनाथ

    लखनऊ 18/अक्टूबर/2017(योगेन्द्र श्रीवास्तव उत्तरप्रदेश प्रभारी ) @www.rubarunews.com >> आज अयोध्या में दीपोत्सव का शुभारम्भ करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा कि अयोध्या मानवता धर्म की धरती है, दुनिया को अयोध्या ने रामराज का पाठ पढ़ाया है, इस बार दीपोत्सव मनाकर लोगों को त्रेतायुग की याद दिलाई है। आज वही परिदृश्य उपस्थित हुआ है। जब राम चैदह वर्ष का वनवास काटकर अयोध्या वापस लौटे थे। हमारा प्रयास है कि अयोध्या के नाम पर लगाया जाने वाला प्रश्नचिन्ह बंद हो और रामराज की परिकल्पना साकार होती दिखाई पड़े। रामकथा पार्क में आयोजित दीपोत्सव के भव्य मंच से उक्त उद्गार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने व्यक्त किये। उनके साथ मंच पर राज्यपाल रामनाईक उत्तर प्रदेश भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डाॅ0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय, राष्ट्रीय सह महामंत्री (संगठन) शिव प्रकाश तथा उत्तर प्रदेश मंत्रिमण्डल के मंत्री उपस्थित थे। 

            राज्यपाल राम नाईक ने अपने संक्षिप्त सम्बोधन में कहा कि बाल्मीकि ने रामायण लिखा और पूरी दुनिया को प्रभु राम के जीवन के सम्बन्ध को बताया। मैं मध्य प्रदेश का हूं, मध्य प्रदेश के अश्वनी बाल्मीकि ने भी रामायण लिखा जिसका अनेक भाषाओं में अनुवाद हुआ। उन्होंने कहा कि आज के दिन ही श्रीराम अयोध्या आये थे, पुष्पक यान से जब राम उतरे थे तब धरती स्वर्ग के समान लगने लगी थी। आज वही पुनीत दिन है। 
          मुख्मयंत्री योगी ने अपने सम्बोधन में आगे कहा कि रामराज्य की परिकल्पना को साकार करने वाली अयोध्या क्यों विकसित नहीं हुई, अयोध्या को लेकर नकारात्मक चर्चा क्यों होती रही, यह बहुत बड़ा सवाल है। हमारा उद्देश्य है कि अयोध्या नगर के विकास में जनता सहभागी बने, दीपोत्सव योजना का पहला चरण है आगे और भी चरण होगें। देश आजादी के 70 साल पूरा कर चुका है। यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी चाहते हैं कि भारत समथ्र्य और सशक्त देश की ओर बढ़े उनका प्रयास सराहनीय है और हमें प्रेरणा देता है। दीपोत्सव पर देश और दुनिया की निगाहें अयोध्या पर टिकी हैं अयोध्या स्वयं विकसित हो यह हमारा प्रयास है। 

         अयोध्या लगातार पूर्ववर्ती सरकारों की उपेक्षा झेलता रहा है। यहां के विकास के लिए आज हमने 133 करोड़ धनराशि की योजनओं का शिलान्यास किया है। अयोध्या के सभी घाटों सहित पूरी अयोध्या का सुन्दरीकरण कराया जायेगा। यही नहीं सरकार की मंशा है कि प्रदेश की सभी धर्मनगरी अयोध्या, काशी, मथुरा, नैमिषारण्य, मिर्जापुर के अतिरक्त पुरातत्व महत्व के सभी स्थलों का विकास हो, देश और दुनिया का अयोध्या हब बने यह प्रयास हम कर रहे हैं। हमारा प्रयास है कि अयोध्या पुनः पुराने वैभव को प्राप्त हो। 

         मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सभी के कल्याण का कार्य कर रहे हैं मोदी जी की मंशा है कि हर घर में शौंचालय हो, सभी गरीबों के घर में बिजली मिले, सभी के ऊपर छत हो, किसी के घर में कोई बेरोजगार न हो, माताएं रसाई गैस पर खाना पकायें यही गरीबों के लिए रामराज्य है। हम मानवता और कल्याण का कार्य कर रहे हैं अयोध्या के विकास के लिए केन्द्र सरकार के सहयोग से योजनाओं को मूर्तरूप देने का कार्य प्रदेश सरकार कर रही है। 

    इसके बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल राम नाईक अयोध्या सरयू तट पर पहुंचे और वहां आयोजित सरयू आरती में हिस्सा लिया। सरयू आरती के बाद राम की पैड़ी और नयाघाट पर 1 लाख 71 हजार मिट्टी के दियों को जलाया गया। जिनको 3200 छात्रांे के स्वयंसेवी समूह की सहायता से इन दियों को जलाया गया। तट के मन्दिरों को रंग बिरंगी रोशनियों से इस तरह सजाया गया था कि पहलीबार अयोध्या अपने नये रूप में दिखाई पड़ रही थी। संध्याकाल श्रीलंका और इण्डोनेशिया से आये रामलीला दल ने रामलीलाओं का मंचन किया। अपने सम्बोधन में मुख्यमंत्री ने कहा भी था कि हमारा प्रयास है कि रामायण मेला का अयोध्या में इतना भव्य आयोजन किया जाय कि प्रत्येक दिन हर देश की रामलीला का मंचन हो। उन्होंने यह भी कहा था कि इण्डोनेशिया सबसे बड़ा मुस्लिम देश है हम जब थाईलैण्ड गये तो हमने देखा कि वहां के राष्ट्रीय राजमार्ग का नामकरण राम के नाम पर हुआ है। इण्डोनेशियाई रामलीला कलाकारों से बात की तो उन्होंने कहा कि इस्लाम हमारा मजहब है और राम हमारे पूर्वज हैं इण्डोनेशियाई लोगों में राम के प्रति सम्मान दर्शनीय है। इस अवसर पर केन्द्रीय मंत्री महेश शर्मा, प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र नाथ पाण्डेय, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या, उप मुख्यमंत्री डाॅ0 दिनेश शर्मा, प्रभारी मंत्री सतीश महाना, पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा जोशी, परिवहन मंत्री स्वतन्त्र देव सिंह, समाज कल्याण मंत्री रमापति शास्त्री, ऊर्जा मंत्री श्रीकान्त शर्मा, ग्राम्य विकास मंत्री डाॅ0 महेन्द्र सिंह, ग्रामीण अभियन्त्रण मंत्री मोती सिंह, रामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष नृत्यगोपाल दास, प्रदेश उपाध्यक्ष जेपीएस राठौर, प्रदेश मंत्री गोविन्द नारायण शुक्ल, सांसद लल्लू सिंह, राज्यसभा सदस्य विनय कटियार, सांसद हरिओम पाण्डेय, विधायकगण वेद प्रकाश गुप्ता, इन्द्र प्रताप तिवारी खब्बू, रामचन्द्र यादव, गोरखनाथ बाबा, शोभा सिंह चैहान आदि, क्षेत्रीय संगठन मंत्री बृज बहादुर, जिला प्रभारी सुधीर सिंह सिद्धू, जिलाध्यक्ष अवधेश पाण्डेय बादल आदि उपस्थित थे।


    Share on Google Plus

    About Rubaru News

    This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
      Blogger Comment
      Facebook Comment

    0 comments:

    Post a Comment