• --New-- Click here to Watch News channel online.
  • अमेठी पुलिस की कार्यशैली पर सवालिया निशान? | Rubaru news
    Powered by Blogger.

    अमेठी पुलिस की कार्यशैली पर सवालिया निशान?

    अमेठी, 10/नवम्बर/2017 (योगेन्द्र श्रीवास्तव यूपीहेड) @www.rubarunews.com>>  अमेठी पुलिस जहां दो शातिर अपराधियों जोकि पासपोर्ट और ड्राइविंग लाइसेंस में जालसाजी कर कागजात तैयार करने वाले गिरोह के दो सदस्यों को क्राइम ब्रांच अमेठी ने गिरफ्तार किया। जिसपर अमेठी पुलिस अपनी पीठ थपथपाती नजर आ रही। पिछले 6 महीनों के बीच के आंकडो मे अपवाद स्वरुप अगर मुसाफिरखाना में आधा दर्जन गाड़ियों के वाहन चोरी संबंधित खुलासे को अलग कर दिया जाए तो प्रत्येक खुलासे में क्राइम ब्रांच के द्वारा किये गए अपराधियो की गिरफ्तारी पर अमेठी थानो की पुलिस ने अपनी सफलता बताया है। जबकि क्राइम ब्रांच के सम्मिलित हुए बगैर पुलिस खुलासा नहीं कर सकी है या यूं कहे कि क्राइम ब्रांच  के कार्यो को ही जिले के आलाधिकारी के द्वारा खुलाशा किया जाता रहा है और खुलाशे मे थानो पर तैनात पुलिस कर्मियो की लम्बी-चौडी लिश्ट जिले के मिडीया कर्मीयो को दे दिया जाता है। 
          अमेठी पुलिस की कार्यशैली पर काफी समय से सवालिया निशान भी उठते हैं कारण अमेठी जिले के शांतिव्यवस्था अधिकारी नही उनके मतहत कर्मचारी चलाते रहे है । जबकि इसी कारण विवादो के घेरे मे पूर्व एसपी पूनम के आ जाने के कारण स्थानातरण जनपद से हुआ। परंतु आाज भी अपने चाटुकारिता से अधिकारीयो का खसम-खास बना हुआ है। आम आदमी कार्यलय का चकर लगाने के बजाय दलाल के माध्यम से अपने काम को कराने को लेकर मजबूर है। अमेठी आरटीओ ऑफिस में के आस-पास दलालों की दुकान सजी हुई नजर आएंगे लेकिन जिले का प्रशासनिक अमला कार्यवाही नही करता। जिले के एसपी ऑफिस मे चरित्र प्रमाण पत्र के नाम पर रु.100 जमा कराए जा रहे है जिले के आलाधिकारीयो के नाक के नीचे हो रहे इस वासूली की खबर उन्हे नही है।यही नही जनपद के समस्त थाना क्षेत्रों में अगर देखा जाए तो चरित्र प्रमाण पत्र पर रिर्पोट के नाम पर हजारों रुपए की वसूली की जाती है।
          पासपोर्ट बनवाने के लिए थानों पर लगने वाली रिपोर्ट के नाम पर रु. 2,000 से रु. 3000 तक वसूली की जा रही है। इसके बाद एलआईयू में रिपोर्ट लगाने के नाम पर भी रु. 1000 से 1500 की डिमांड की जाती है जिन लोगों के द्वारा धनराशी का भुगतान नहीं किया जाता है उनके प्रपत्रों पर बिना किसी अभियोग पंजिकृत हुए रिपोर्ट लगाने के नाम पर थानो मे रूकी रहती है। पंचायत चुनाव आचार संहिता होने के कारण संदिग्ध और अपराधियों की धरपकड़ के लिए सरेशाम पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर जिले भर के समस्त थानों द्वारा जिलेभर में वाहन चेकिंग लगाई जा रही है। लगने वाले चेकिंग में वाहनों की चेकिंग के बजाए पुलिस द्वारा वासूली की जा रही है। नाम न छापने के शर्त पर जिले के एक थाना प्रभारी ने वाहन चेकिंग के दौरान राजस्व प्राप्ति के लिए भी निर्देश दिए गए ऑडियो रिकॉर्डिंग रूबरू संवाददाता को सुनाया हैं। एडिशनल एसपी बीसी दुबे से इस संबंध में जानकारी करनी चाहिए तो एडिशनल एसपी ने बताया कि इस तरह का कोई भी टारगेट किसी भी थानाध्यक्ष को नहीं दिए गए हैं।


    Share on Google Plus

    About Rubaru News

    This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
      Blogger Comment
      Facebook Comment

    0 comments:

    Post a Comment