• --New-- Click here to Watch News channel online.
  • "कन्धों से मिलते हैं कंधे,कदमों से कदम मिलते हैं……… | Rubaru news
    Powered by Blogger.

    "कन्धों से मिलते हैं कंधे,कदमों से कदम मिलते हैं………

    गाजीपुर16/12/2017 (विकास राय) @www.rubarunews.com>> जनपद के हार्टमन इण्टर कालेज हार्टमन पुर में आज प्रधानाचार्य फादर पी विक्टर ने छात्र छात्राओं से.....
    "कन्धों से मिलते हैं कंधे,कदमों से कदम मिलते हैं,
    हम चलते हैं जब ऐसे तो दिल दुश्मन के हिलते हैं।।"
    इस गीत के बोल पर चर्चा करते हुए कहा कि कन्धा से कन्धा मिलने का तात्पर्य है, साथ देना, सहारा देना,विचारों और भावनाओं का मिलना।
    अतः जब हमारे विचार, सोच, और भावनाएँ मिल जाती हैं या तालमेल खाती हैं तो हम एक सुसंगठित प्रयास करते हैं और जीवन में अकेलापन महसूस नहीं करते हैं , हम सफल हो जाते हैं।
    उन्होंने कहानी के माध्यम से बच्चों को समझाया और कहा कि  Once a daddy asked his little daughter,"which is the most important part of the body"? The daughter replied, Eye. Dad said, No. There are so many who are blind, still they survive. Similarly, not Ear because there are deaf who live well. Once a man died, both the father and the daughter went for the last ceremony. उस शव यात्रा में लोग मृत शरीर को कंधों पर उठा कर ले जा रहे थे। तब पिता अपनी बच्ची को समझाते हैं कि देखो, यह कन्धा ही है जो बहुत  Important महत्वपूर्ण  है।
    जब हम उदास होते हैं, हताश होते हैं, परेशान होते हैं, रोते हैं तो हम सभी एक कन्धा खोजते है, जिस पर सर रख कर आराम महसूस कर सकें। अतः जीवन मे हमें एक दूसरे के साथ कंधा से कंधा मिलाकर चलना है।एक- दूसरे का सहारा बनना है।



    Share on Google Plus

    About Rubaru News

    This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
      Blogger Comment
      Facebook Comment

    0 comments:

    Post a Comment