• --New-- Click here to Watch News channel online.
  • देश के निर्माण में पिछड़ा वर्ग की महत्वपूर्ण भूमिका: प्रसाद | Rubaru news
    Powered by Blogger.

    देश के निर्माण में पिछड़ा वर्ग की महत्वपूर्ण भूमिका: प्रसाद

    भिण्ड 25/फरवरी/2018 (rubarudesk) @www.rubarunews.com>>  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सबका साथ सबका विकास आधारित केन्द्रित बजट देकर देश की अर्थव्यवस्था को गति प्रदान की है। पिछड़ा वर्ग का अधिकतर समाज कृषि व्यवसाय से जुड़े हैं। और कृषि में तरक्की से ही सारी आर्थिक गतिविधियों में तीव्रता आती है। यह बात सांसद डॉ भागीरथ प्रसाद ने रविवार को बीजेपी पिछड़ावार्ग मोर्चा की कार्यशाला में कही।

          उन्होने कहा कि कृषि की उन्नती से ही कंपनियों को उत्पादन बड़ाने का अवसर मिलता है, जिससे देश में नए रोजगार का सृजन होता है। कृषि आधारित आर्थ व्यवस्था में इससे क्रय शक्ति बढ़ती है। डॉ प्रसाद ने कहा कि देश में 65 प्रतिशत आबादी कृषि पर निर्भर है। कृषि में 50 प्रतिशत लोगों को रोजगार मिलता है। सब देशवासियों के लिये कृषि ही देश की अर्थव्यवस्था का मेरूदंड है, इसलिए केन्द्र ने कृषि केन्द्रित बजट देकर गांव, गरीब, किसान, खेतिहर, मजदूरए पिछड़ों की चिंता की है। डॉ प्रसाद ने कहा कि पिछड़ा वर्ग जातियों की देश में बदहाली पूर्ववर्ती सरकारों के दुर्लक्ष्य का नतीजा है। इसे एनडीए सरकार ने समझा है और कृषि की लागत मूल्य का डेढ़ गुना समर्थन मूल्य देने का प्रावधान कर सही समाधान किया। उन्होने कहा कि कर्ज माफी लोकलुभावन हथकंडा होता है, जिससे देश की माली सेहत गिरती है और किसान को स्थाई लाभ नहीं मिलता। लेकिन समर्थन मूल्य में डे? गुना इजाफा होना देशव्यापी बीमारी का सही इलाज सिद्ध होगा। इस अवसर पर मोर्चा जिला अध्यक्ष अमृतपाल सिंह बघेल, किसान मोर्चा प्रदेश मंत्री देवेन्द्र सिंह नरवरिया, सोवरन सिंह गुर्जर, मोर्चा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य देवेंद्र बघेल, मरजाद सिंह यादव, जिला महामंत्री आरबी सिंह बघेल, सत्यभान नरवरिया, गुरुदेव नरवरिया सहित काफी संख्या में मोर्चा पदाधिकारी मौजूद रहे। 
    Share on Google Plus

    About Rubaru News

    This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
      Blogger Comment
      Facebook Comment

    0 comments:

    Post a Comment

    Book - Kamyab Safarnama