• --New-- Click here to Watch News channel online.
  • पंचायत खनन के नाम पर यूपी सप्लाई हो रहा रेत, जप्त हुए 205 ओवरलोड वाहन | Rubaru news
    Powered by Blogger.

    पंचायत खनन के नाम पर यूपी सप्लाई हो रहा रेत, जप्त हुए 205 ओवरलोड वाहन


    भिण्ड 11/जून/2018 (rubarudesk) @www.rubarunews.com>> रेत खनन का कार्य पंचायतों को दिए जाने के बाद रेत माफिया द्वारा रास्ता निकालते हुए पंचायत द्वारा जारी रॉयल्टी के नाम पर जम कर अवैध खनन किया जा रहा है। यहां से माफिया रेत के ओवरलोड वाहनों को मधूपुरा के रास्ते यूपी सप्लाई कर रहा है। सोमवार को पुलिस, प्रशासन की संयुक्त कार्रवाई में इस गोरखधंधे का खुलासा हुआ। जहां से प्रशासन ने 205 रेत से भरे ट्रक व डंफरों को जप्त किया।
               
    नयागांव क्षेत्र में सोमवार शाम को कार्रवाई करने के लिए प्रशासन, पुलिस व खनिज विभाग टीम ने संयुक्त रुप से छापा मारा। जहां कार्रवाई के दौरान नयागांव से मधूपुरा के बीच में अलग-अलग क्षेत्रों से आ रहे रेत के ओवरलोड वाहनों को पुलिस टीम ने पकड़ लिया।  इन वाहनों की जांच करने पर चालकों ने पंचायतों द्वारा जारी रॉयल्टी की रसीद दिखाई, लेकिन इन सभी रसीदों में लिखे भार से ज्यादा रेत वाहनों में पाया गया। शाम 4 बजे के करीब आरंभ हुई यह धरपकड़ की मुहिम रात होने तक जारी रही, जिसमें अधिकारियों ने तकरीबन 205 ओवरलोड वाहनों को जप्त किया। खनिज अधिकारी आरपी भदकारिया ने बताया कि सोमवार को जप्त हुए वाहनों के कागज व रॉयल्टी रसीदों की जांच की जा रही है। जिसके बाद आरोप तय होने पर इन सभी वाहनों से 1 करोड़ 2 लाख 50 हजार के लगभग राजस्व की वसूली की जाऐगी। सोमवार को पहली बार इतनी बड़ी कार्रवाई के बाद अधिकारियों ने इन सभी वाहनों को पुलिस अभिरक्षा में खड़ा कर दिया। जिसके बाद देर रात तक खनिज विभाग के कर्मचारियों द्वारा रॉयल्टी रसीद व अन्य कागजात की जांच की जा रही थी।
    पंचायत में अवैध खनन का खेल:
           उल्लेखनीय है कि प्रदेश सरकार के निर्देश के बाद जिले भर में रेत खनन का काम पंचायतों के सुपुर्द कर दिया गया। जिसके बाद सक्रिय रेत माफिया ने सरपंचों से सांठ-गांठ कर रेत के इस काले कारोबार को शुुरु कर दिया। जिसमें पंचायत द्वारा कम रॉयल्टी पर मशीनों से अवैध रेत खनन कर उसे वाहनों के जरिया सप्लाई किया जाने लगा। इस पूरी काम को बड़े ही संगठित रुप से अंजाम देते हुए रेत माफिया प्रतिदिन लाखों के राजस्व का चूना लगा रहा है।
    चार घंटे की रसीद पर सप्लाई:
          ज्ञात हो कि पंचायतों द्वारा शासन के नियमानुसार रेत खनन की रॉयल्टी काटे जाने पर इसके परिवहन के लिए महज 4 घण्टों का समय दिया जाता है। ऐसे में रेत माफिया द्वारा टीम वर्क करते हुए रेत से भरे वाहन को ऊमरी-नयागांव के रास्ते हनुमंतपुरा चौराहा यूपी तक पहुंचते हैं। इस बीच यूपी सीमा आने पर ऑनलाईन रॉयल्टी रसीद कटाई जाती है। जिसके बाद यूपी में चोरी छिपे इस रेत को सप्लाई कर दिया जाता है।
    भारी वाहन से जर्जर होगा पुल:
          खास बात यह है कि ओवर लोडिंग के चलते पिछले 1 महीने से अधिक समय से चंबल का पुल जर्जर हो गया है। जिसके कारण इस पर से वाहनों का आवागमन पूरी तरह से रोक दिया गया है। ऐसे में माफिया द्वारा रेत सप्लाई के लिए विकल्प खोजते हुए मधूपुरा से होते हुए हनुमंतपुरा जाने का रास्ता खोज लिया। लेकिन यहां भी सैकड़ों ओवर लोड वाहन गुजरने से रास्ते में पडऩे वाले पुल के जर्जर होने का खतरा मंडराने लगा है।
    थाना पुलिस की मिलीभगत:
             नयागांव क्षेत्र से दिन-रात इन ओवर लोड वाहनों के निकलने में स्थानीय थाना पुलिस की मिली भगत सीधे तौर पर सामने आ रही है। यहां शाम ढलने के बाद से ही रेत के ओवरलोड वाहन बेधडक़ थाने के सामने से गुजरते देखे जा सकते हैं। स्थानीय नागरिकों के अनुसार थाना पुलिस द्वारा इन पर कार्रवाई करने के बजाए उनसे लेन-देन कर निकाला जाता है।

    - प्रशासन व पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में 205 के करीब रेत से भरे ओवरलोड वाहनों को जप्त किया गया है। इन सभी वाहनों के कागजात की जांच की जा रही है। जिनसे 1 करोड़ के लगभग राजस्व की वसूली की जाऐगी।
    आरपी भदकारिया, जिला खनिज अधिकारी

    Share on Google Plus

    About Rubaru News

    This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
      Blogger Comment
      Facebook Comment

    0 comments:

    Post a Comment