• --New-- Click here to Watch News channel online.
  • पीसीपीएनडीटी सैल की भ्रूण लिंग परीक्षण के खिलाफ एक और बड़ी डिकाय कार्यवाही | Rubaru news
    Powered by Blogger.

    पीसीपीएनडीटी सैल की भ्रूण लिंग परीक्षण के खिलाफ एक और बड़ी डिकाय कार्यवाही

    जयपुर, 5/जून/2018 (KrishnaKantRathore) @www.rubarunews.com>>  राज्य पीसीपीएनडीटी दल द्वारा 24 घंटे के अंदर ही दूसरे डिकाय आपरेशन को अंजाम देते हुये भ्रूण लिंग परीक्षण में लिप्त दलाल एएनएम कमला एवं उसकी बेटी एएनएम दलाल प्रियंका को शिकंजे में ले लिया है। उल्लेखनीय है कि पीसीपीएनडीटी टीम की अब तक की 36वीं इंटरस्टेट सहित कुल 119वीं डिकाय कार्यवाही है।
               अध्यक्ष राज्य समुचित प्राधिकारी पीसीपीएनडीटी एवं मिशन निदेशक एनएचएम नवीन जैन ने बताया कि बूंदी के उपकेन्द्र ओवन पर एएनएम के पद पर कार्यरत कमला देवी के द्वारा लम्बे समय से बूंदी, भीलवाड़ा व जयपुर तक से गर्भवती महिलाओं की सोनोग्राफी के माध्यम से लिंग जांच करने व गर्भपात करवाने की सूचना मिल रही थी। टीम लम्बे समय से मां-बेटी एएनएम दलालों की ट्रेकिंग कर रही थी। इस बार पीसीपीएनडीटी टीम के शिकंजे से नहीं बच पायीं।
              जैन ने बताया कि टीम ने दलाल एएनएम कमला से फोन पर भ्रूण लिंग करवाने की बात कही। इस पर दलाल ने डिकाय गर्भवती महिला एवं सहयोगी को बूंदी के हिंडौली के पास बुलाया। वहां से अपनी गाड़ी से डिकाय महिला को जयपुर के बस्सी अपनी बेटी प्रियंका के पास भिजवाया। यहां सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बस्सी पर कार्यरत एएनएम प्रियंका ने सहयोगी को अपने सरकारी आवास पर छोड़कर खुद डिकाय गर्भवती महिला की सीएचसी पर रैफरल स्लिप बनवाकर सामने ही स्थित निजी लाईफ लाईन सोनोग्राफी केन्द्र पर सामान्य सोनोग्राफी करवायी। इसके बाद डिकाय को लेकर वापस अपने क्वार्टर पर आ गयी।
                अध्यक्ष राज्य समुचित प्राधिकारी ने बताया कि इसके बाद प्रियंका ने मनगढंत तरीके से फोन पर चिकित्सक से नाटकीय तरीके से बात की और भ्रूण लिंग के बारे में जानकारी दी। इसके बाद सहयोगी ने गर्भवात के बारे में भी बात की तो उसने फोन पर प्रियंका ने कई चिकित्सकों से बात की। कुछ देर बार चिकित्सक के उपलब्ध न होने की दशा में बुधवार को आने को कहा। इसके बाद सहयोगी का ईशारा मिलते ही टीम ने दोनों मां-बेटी दलाल कमला व प्रियंका को गिरफ्तार कर लिया है। प्रारम्भिक जांच में सोनोग्राफी केन्द्र की भूमिका नजर नहीं आयी है। विस्तार से जांच की जा रही है। देर शाम तक काम में ली गयी बोलेरो के वाहन चालक दुर्गेश मेघवाल को भी गिरफ्तार कर लिया गया है।
                इस डिकाय कार्यवाही में सीआई श्रीराम बड़सरा, अर्चना मीणा, कांस्टेबल देवेन्द्र सिंह, जिला पीसीपीएनडीटी समन्वयक बूंदी के राजीव लोचन, कोटा की  प्रमोद कंवर, झालावाड़ के  प्रभू एरवाल, भीलवाड़ा के 
    रामस्वरूप सैन एवं टोंक के  जगदीश गूर्जर शामिल थे।

    Share on Google Plus

    About Rubaru News

    This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
      Blogger Comment
      Facebook Comment

    0 comments:

    Post a Comment