• --New-- Click here to Watch News channel online.
  • अन्तर्राज्यीय चोरी करने वाली गैग का सरगना पूर्व में एक लाख का ईनामी साथियो के साथ गिरफ्तार | Rubaru news
    Powered by Blogger.

    अन्तर्राज्यीय चोरी करने वाली गैग का सरगना पूर्व में एक लाख का ईनामी साथियो के साथ गिरफ्तार


    ग्वालियर 10/08/2018 ( RamjisharanRai) @www.rubarunews.com>> दिनांक 29.05.18 को गुलमोहर सिटी कैम्पस में दो फ्लैटो में नकब्जनी की घटना हुई थी। जिस पर से थाना विश्वविधालय में अज्ञात आऱोपीयो के खिलाफ अप0क्र0 257/18, 258/18 धारा 454,380 भादवि का कायम किया गया घटना स्थल की तस्दीक की गई मुखबिर की सूचना पर एक गुजरात नम्बर की गाडी GJ12-BF-9196गाडी-गुलमोहर सिटी घटना स्थल के पास देखना पाया गया जो कि संदेह के घेरे में थी। अतः थाना विश्वविधालय एवं क्राईम ब्रांच की टीम ने गुजरात नम्बर की गाडी को शहर में सर्च किया तो शहर में प्रवेश करने वाले टोल प्लाजा पर गुजरात नम्बर की कोई गाडी शहर मे नही मिली परन्तु उसी रंग एवं हुलिये की दूसरी गाडी उसी कम्पनी कीDL9C-AB-9362 स्विफ्ट डिजायर कलर ग्रे दिखी तस्दीक करने पर पाया गया वह गुजरात नम्बर की गाडी व दिल्ली नम्बर की गाडी में भी समानता पाई गई। DL9C-AB-9362 के पते पर पहुचे तो उक्त गाडी मालिक से पता किया तो उसने ब्रोकर के माध्यम से गाडी देवेन्द्र नागर नाम के व्यक्ति को करीब चार माह पहले बेच दी थी देवेन्द्र नागर का नाम पता लेकर पता किया गया तो उक्त व्यक्ति आदतन अपराधी एवं हत्या के केश में लिप्त पाया गया जिससे ये और सिध्द हो गया कि गुलमोहर की चोरी में उक्त व्यक्ति और उसके ही अन्य साथी हो सकते है जिस पर क्राईम ब्रांच की टीम ने अत्यन्त मेहनत के साथ देवेन्द्र नागर व घटना में लिप्त अन्य साथियो का भी नाम पता एवं पहचान निकालने में कडी मेहनत व मुश्कत से सफलता हासिल की बाद देवेन्द्र के साथी सुरेन्द्र सिंह जाट, महेश जाट एवं मुकेश जाट का पता एवं हुलिया अब क्राईम ब्रांच के हाथ में था। उक्त आऱोपीयो पर सभी राज्यो से 28 से भी ज्यादा चोरी नकबजनी के मामले पाये गये राजस्थान के अलवर से देवेन्द्र नागर एक लाख का ईनामी भी रहा है करीब दो महीने क्राईम ब्रांच व थाना विश्वविधालय की संयुक्त टीम दिल्ली में रहकर उक्त आरोपीयो की पतारसी की एवं अपने व्यवहार से दिल्ली में भी मुखबिर बनाये एक दिन डीएल नम्बर की गाडी नोएडा के 51 सेक्टर के हाईवे से गुजरती हुई दिखी तो दिल्ली के बनाये गये मुखबिर ने सूचना दी कि उक्त गाडी 51 सेक्टर के पास से गुजर रही है तब क्राईम ब्रांच की टीम एक टीम सेक्टर 1 में ही उपस्थित थी उस जगह पहुचकर तस्दीक करने पर पाया कि उक्त गाडी डी सेक्टर की तरफ गई है टीम ने डी सेक्टर के चप्पे चप्पे को बारीकी से सर्च कराना शुरु किया तो उनकी मेहनत रंग लाई एक होटल के पोर्च में उक्त गाडी का खडा होना पाया गया रिसेप्शन पर पता किया कि बाहर खडी DL9C-AB-9362 गाडी किसकी है तब रिसेप्शन वाले ने बताया कि तीन चार लोग रुके हुए है। तो दिल्ली क्राईम ब्रांच को भी सूचना देकर मौके पर बुलाया गया फिर ग्वालियर क्राईम ब्रांच एवं थाना विश्वविधालय की संयुक्त टीम के साथ दिल्ली क्राईम ब्रांच की टीम ने मिलकर कमरे में दविश दी तो तीनो आरोपी को होटल के कमरे से पकड लिया जिनको थाना क्राईम ब्रांच ग्वालियर आकर विधिवत गिरफ्तार किया जाकर पीआर पर न्यायालय पेश किया वाद पुलिस अभिरक्षा में लगातार पूछताछ से चोरी गये माल एवं मशरुका चोरो से बरामद किया जो करीब 7 लाख का बरामद किया गया। उक्त चोरी में क्राईम ब्रांच एवं थाना विश्वविधालय की कडी मेहनत देखते हुए श्रीमान उपपुलिस महानिरीक्षक द्वारा  पुलिस अधीक्षक द्वारा नगद पुरस्कार से पुरुष्कृत किया गया। सराहनीय कार्य करने वाली थाना विश्वविधालय व क्राईम ब्रांच की संयुक्त टीम सराहनीय कार्यवाही


    Share on Google Plus

    About Rubaru News

    This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
      Blogger Comment
      Facebook Comment

    0 comments:

    Post a Comment