• --New-- Click here to Watch News channel online.
  • सातवीं राष्ट्रीय सामान्य जनसभा सम्पन्न-मध्यप्रदेश से 9 सदस्यीय समन्वय दल सम्मिलित हुआ | Rubaru news
    Powered by Blogger.

    सातवीं राष्ट्रीय सामान्य जनसभा सम्पन्न-मध्यप्रदेश से 9 सदस्यीय समन्वय दल सम्मिलित हुआ

    विसाखापट्टनम आंध्रप्रदेश (RamjiSharanRai) @www.rubarunews.com>>  खदान मजदूर के अधिकारी व खनन नीति, खनन कानून के प्रभावी क्रियान्वयन हेतु संचालित राष्ट्रीय जन संगठन "खान, खनिज और लोग (माईन्स मिनरल्स & पीपुल्स) भारत" के तत्वावधान में सातवीं राष्ट्रीय सामान्य जनसभा तीन दिवसीय समता परिसर दबन्दा, विसाखापट्टनम आंध्रप्रदेश में आयोजित की गई। 
                     आयोजित सातवीं राष्ट्रीय सामान्य जनसभा में रोज़र मूड़ी इंग्लैंड व नटाली लोवरी ऑस्ट्रेलिया विदेशी विद्वान व सोशल एक्टिविस्ट ने जन सभा मे विचार व्यक्त किए जिसमें उनके द्वारा किए गए अध्ययन व शोध पर प्रस्तुतिकरण किया व अंतराष्ट्रीय खदान, खनिज के अवैध दोहन को प्रकृति, मानव, व जीवों के लिए खतरा बताया। इसको पूरी दुनियां में अंकुश लगाने की महती आवश्यकता बताया अन्यथा जीवन मुश्किल हो जाएगा।
                       माईन्स मिनरल्स & पीपुल्स भारत के राष्ट्रीय अध्यक्ष रवि रेब्बाप्रगडा ने स्वागत भाषण करते हुए प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। राष्ट्रीय महासचिव अशोक श्रीमाली ने  प्रभावी संचालन किया।
                  सातवीं राष्ट्रीय सामान्य जनसभा मध्यप्रदेश से 9 सदस्यीय समन्वय दल सम्मिलित हुआ जिसमें डॉ. रामजीशरण राय दतिया, रामअवतार गौर गोहद भिण्ड, रमेशप्रकाश पाण्डेय शहडोल, मस्तराम घोष निवाड़ी, सीमा भार्गव भोपाल, दशरथ प्रसाद कुशवाहा टीकमगढ़, सियादुलारी रीवा, दीपक तिवारी खजुराहो छतरपुर,  छत्रसाल पटेल पन्ना ने सहभागिता की। 
                   खदान क्षेत्र में कार्यरत मजदूरों के अधिकार उनको प्राप्त नहीं होते न ही स्वास्थ्य, शिक्षा व अन्य अधिकार उन्हें मुहैया होते जिससे उनका व परिजनों का सर्वांगीण विकास अवरुद्ध हो जाता है। उक्त विचार डॉ. रामजीशरण राय ने सातवीं राष्ट्रीय सामान्य जनसभा में व्यक्त किए। रामअवतार गौर ने कहा खदान क्षेत्र में संलग्न मजदूरों को सीलिकोसिस बीमारी होने से उनका स्वास्थ्य व शारीरिक क्षमता कम हो जाती है। 
                 रमेश पाण्डेय ने खदान क्षेत्र में बेरोकटोक खनन करना व उस पर प्रभावी कार्यवाही न होना घातक है। मस्तराम घोष व दशरथ कुशवाहा ने प्रशासनिक अधिकारियों की मिलीभगत से अवैध खनन पर पढ़ना उठाया। सीमा भार्गव व दीपक तिवारी ने सिलिकोसिस के समुचित उपचार व चिन्हांकन हेतु उपयुक्त चिकित्सकों का न होना चिंतनीय बताया। 
                सियादुलारी ने खदान व खनिज दोहन के लिए सरकारों की नीति में बदलाव आवश्यक बताते हुए आदिवासीयों को बेदखल करने की प्रक्रिया को अनुचित बताया। छत्रसाल पटेल ने खदान क्षेत्र में काम करने वाले मजदूरों व उनके परिवार के हकों के संरक्षण के लिए प्रभावी कार्यक्रम व नीतियां बनाने की आवश्यकता पर जोर दिया। 
                सातवीं राष्ट्रीय सामान्य जनसभा में राष्ट्रीय गवर्निंग बोर्ड में ईसी मेम्बर यूसुफ बेग का निर्वाचन किया गया व सलाहकार सदस्य सियादुलारी के बनाया गया।
    सातवीं राष्ट्रीय सामान्य जनसभा में पश्चिम बंगाल से स्वराज दास, किंगसुख, छत्तीसगढ़ से राजेश त्रिपाठी, पुष्पा सोरेन, राजस्थान से बंशीलाल व राजो, गोआ से राहुल वासु, झारखंड से मुन्नी हसदा, ओड़िसा से डेमे ओरम सहित 21 राज्यों के सामाजिक मुद्दों के विश्लेषको ने सहभागिता की। 
                   सातवीं राष्ट्रीय सामान्य जनसभा तीन दिवसीय में संयोजक  मिथुन राज, बी. पी. यादव श्री हरिका, सतीश कुमार का बेहतरीन प्रबंधन चर्चा का विषय रहा। उक्त जानकारी राज्य स्तरीय समन्वय दल सदस्य डॉ. रामजीशरण राय ने दी।
    Share on Google Plus

    About Rubaru News

    This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
      Blogger Comment
      Facebook Comment

    0 comments:

    Post a Comment