• --New-- Click here to Watch News channel online.
  • मैं मोदी जी का भक्त हूँ लेकिन अंधभक्त नहीं हूँ : परेश रावल | Rubaru news
    Powered by Blogger.

    मैं मोदी जी का भक्त हूँ लेकिन अंधभक्त नहीं हूँ : परेश रावल


    मुंबई (rubarudesk) @www.rubarunews.com>> बॉलीवुड अभिनेता परेश रावल भाजपा के लिए अहमदाबाद पूर्व से सांसद हैं लेकिन इस बार चुनाव से दूर हैं. न्यूज18 इंडिया के साथ एक खास इंटरव्यू में राजनीति में आने और भाजपा से जुड़ने के बारे में बात करते हुए उन्होने कहा की उनका मकसद कभी राजनीति नहीं था बस प्रधानमंत्री मोदी को सपोर्ट करना था. मैं बीजेपी में सांसद रहा, चुनाव लड़ने या नहीं लड़ने से फर्क नहीं पड़ता क्योंकि मुझे अपना राजनीतिक करियर नहीं बनाना है.आने वाले लोकसभा चुनावों को लेकर प्रचार अपनी चरम सीमा पर है. चुनावों के विषय में उन्होने कहा, “ये बात मैं चुनाव से पहले कह रहा हूँ . इस बार भी मोदी जी पूर्ण बहुमत से देश के प्रधानमंत्री बनेंगे. पिछली बार से ज्यादा सीट मिलेंगी.” “मोदी जी ने जो काम किया है उसकी तुलना की ही नहीं जा सकती और अगर छोड़ भी दे उनका काम तो मोदी के अलावा अब हमारे पास विकल्प क्या है? मोदी जी की ही सरकार वापस लौटेंगी,” उन्होने कहा. पाकिस्तान और राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दो से लेकर विकास के मुद्दों तकए विपक्ष लगातार प्रधानमंत्री पर हमले कर रहा है. विपक्ष के आरोपों के बारे में उन्होने कहा, “मोदी जी अपनी जान जोखिम में डालकर पाकिस्तान गए थे।
                   पाकिस्तान के लोग तो मोदी को मारने का बहाना ढूँढ रहे थे. लेकिन मोदी ने जान की परवाह नहीं की और यहाँ लोग कहते है कि मोदी बिरयानी खाने पाकिस्तान गए है. नवाज शरीफ का बर्थ डे पर केक खाने गए थे. अब भला मोदी को यहाँ बिरयानी और केक नहीं मिली जो पाकिस्तान जाना पड़ा। अब कमअक़्लों को कौन समझये कि मोदी जी देश के रिश्ते सुलझाने गए थे.उन्होने कहा. विपक्ष के ये भी आरोप है की बीजेपी सेना और शहादत पर वोट माँग रही है. इस पर उन्होने कहा, “इसमें गलत क्या है?
                    अगर बीजेपी ने सेना के लिए काम किया है, उन्हें आजादी दी, उनकी सुरक्षा के लिए बुलेटप्रूफ जैकेट बनवायी तो अपना काम जनता को दिखाना या बताना कोई गुनाह नहीं है. बीजेपी ने जो काम किया वही गिना रही है तो ऐसे में विपक्ष को तखलीफ क्यों हो रही है? सेना को कभी इन्होंने मुड़कर नहीं देखा उन पर सवाल उठाते है यह किस किस्म की देशभक्ति हुई?”
                   अगर सर्जिकल स्ट्राइक्स के सबूत की बात हो रही है तो 26ध्11 के सबूत मिलने के बाद भी कांग्रेस सरकार ने क्यों कोई एक्शन नहीं लिया। आप सेना का हौसला अफजाही करने की बजाय पाकिस्तान से मदद माँग रहे है और अपील कर रहे है की आप मोदी को हराने में हमारी मदद करें तो कही आपका कोई प्लान तो नहीं है पाकिस्तान से मिलकर दोबारा अटैक कराकर वाहवही लूटने का? और पाकिस्तान से जुड़े अपने राज छुपाने के लिए राफेल जैसी बात करते है.उन्होने कहा.
               कॉंग्रेस के प्रधानमंत्री केचौकीदार चोर है वाले आरोप पर उन्होने कहा, “आपके ऊपर ख़ुद पर केस चालू है, आप खुद बेल पर बाहर है. अगर असल में चैकीदार चोर है तो आपने तो गुजरात में इसी मोदी के पीछे आर्मी से लेकर सारी फौज लगा दी लेकिन कुछ नहीं निकला. इनको कोर्ट बुलाया गया तो ये पूरा जुलूस लेकर गए. मोदी जी तो नहीं गए एसआईटी में. आराम से प्रोसिजर पूरा करके आए. मैं उनका भक्त हूँ लेकिन अंधभक्त नहीं हूँ. मोदी जी देश के लिए अपना खून पसीना बहा रहे है तो मैं उनके साथ हूँ कल अगर ये (राहुल गाँधी) भी अच्छा काम करे तो मैं उनका गुणगान करूँगा ।
                   हाल ही में प्रियंका गाँधी भी राजनीति में सक्रिय हुई हैं. परेश रावल के अनुसार प्रियंका बरसो से एक्टिव नहीं हुई हैं. कहावत है ना कि शेर आया शेर आया तो जब शेर आया तो कोई फर्क ही नहीं पड़ा.
                  अभिनेत्री उर्मिला मातोंडकर के कॉंग्रेस से जुड़ने के बारे में उन्होने कहा की सेलिब्रिटी को देखकर जनता देखने आती है सुनती है समझती है और अगर आप नहीं जंचे तो जनता प्यार ही नहि बल्कि जूता भी दिखाती है हाल ही में अरविंद केजरीवाल ने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा था कि संविधान बचाना है तो मोदी हटाओ साथ ही साथ उन्होने यह भी आरोप लगाया था की मोदी सरकार दूसरों को सरकारी डराती है और खुद भ्रष्ट है. इस पर परेश रावल ने उल्टा सवाल किया की अभी तक अरविंद केजरीवाल शीला दीक्षित के समय के दिल्ली के घोटाले बाहर लाने वाले थे उसका क्या हुआ? “इन्हें मोदी सरकार डराती तो इनकी जबान चलती? ममता बेनर्जी के राज्य में जाकर बोले तो फिर पता चलेगा खौफ क्या होता है.
                 बीजेपी को लोग बोलते है मुस्लिम विरोधी पार्टी कहते हैं लेकिन परेश रावल के अनुसार बीजेपी मुस्लिम विरोधी नहीं है. उन्होने कहा, “पहले लोग मुस्लिम लोगों को पढ़ाई लिखाई से दूर रखते थे क्योंकि अगर वो पढ़े लिखे हो जाएँगे तो उन्हे लगता था की हमारे हाथ से निकल जाएँगे. लेकिन मोदी जी मुस्लिम विरोधी नहीं बल्कि विकास के साथ है. वह पहले ऐसे नेता है जो चाहते है एक हाथ में कुरान में हो और दूसरे हाथ में कम्प्यूटर हो. सब लोग आगे बढ़े ताकी देश का विकास हो.


    Share on Google Plus

    About www.rubarunews.com

    This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
      Blogger Comment
      Facebook Comment

    0 comments:

    Post a Comment