• --New-- Click here to Watch News channel online.
  • महिंद्रा फाइनेंस जम्मू में 2-व्हीलर से 20-व्हीलर महा लोन मेला आयोजित करेगा | Rubaru news
    Powered by Blogger.

    महिंद्रा फाइनेंस जम्मू में 2-व्हीलर से 20-व्हीलर महा लोन मेला आयोजित करेगा


    जम्मू, 12/जून/2019 (rubarudesk) @www.rubarunews.com>> महिंद्रा ऐंड महिंद्रा फाइनेंशियल सर्विसेज (महिंद्रा फाइनेंस), जो ग्रामीण एवं अर्द्धशहरी बाजारों पर केंद्रित एक अग्रणी नाॅन-बैंकिंग फाइनेंस कंपनी (एनबीएफसी) है, जम्मू में 2-व्हीलर से 20-व्हीलर महा लोन मेला आयोजित कर रहा है। यह दो दिवसीय आयोजन 15 और 16 जून, 2019 को सुबह 10.00 बजे से रात 09.00 बजे तक अकाफ पार्किंग, पहलवान स्वीट शाॅप के निकट, गोल मार्केट, गांधी नगर, जम्मू-180010 में होगा। 
    एमऐंडएम, मारुति, टोयोटा, हुंडई, टाटा मोटर्स, रिनाॅल्ट, निसान, महिंद्रा एवं स्वराज ट्रैक्टर्स, महिंद्रा जेनसेट, महिंद्रा ट्रक्स, होंडा 2 व्हीलर्स सहित अग्रणी ओईएम इस मेले में हिस्सा लेंगे और अपने डीलरशिप्स के जरिए अपने उत्पादों को प्रदर्शित करेंगे। वाहनों में 2-पहिया गाड़ियों से लेकर, यूटिलिटी वाहन, ट्रैक्टर्स, काॅमर्शियल वाहन से लेकर काॅमर्शियल उपकरण तक शामिल होंगे। ऐसे कोई भी ग्राहक जो 2-व्हीलर से लेकर 20-व्हीलर तक किसी भी तरह का वाहन खरीदने की योजना बना रहे हैं, वो उसी जगह महिंद्रा फाइनेंस के आकर्षण फाइनेंस सुविधाओं का लाभ ले सकते हैं। 
              इस अनूठे 2-व्हीलर टू 20-व्हीलर महा लोन मेला की परिकल्पना महिंद्रा फाइनेंस द्वारा वन-स्टाॅप-शाॅप के रूप में की गई थी, जिसका उद्देश्य एक सुविधाजनक स्थान पर कई ब्रांड डीलरशिप्स के जरिए विभिन्न रेंज के उत्पाद उपलब्ध कराना था। ग्राहक गाड़ियों की टेस्ट ड्राइव कर सकते हैं, उनकी तुलना कर सकते हैं और डीलर्स एवं महिंद्रा फाइनेंस से सर्वोत्तम ऑफर्स का लाभ उठा सकते हैं। अधिक जानकारी के लिए, ग्राहक 80888 49988 पर मिस काॅल कर सकते हैं, जिसके बाद उन्हें काॅल बैक कर अधिक जानकारी प्रदान की जायेगी।
               महिंद्रा फाइनेंस दो दशकों से अधिक समय से भारत के तीन लाख से अधिक गांवों के ग्रामीण एवं अर्द्धशहरी ग्राहकों को ऋण उपलब्ध कराता रहा है। इसने विशेषीकृत ऋण उत्पादों एवं समाधानों के जरिए ग्रामीण भारत के 6.1 मिलियन से अधिक लोगों की उद्यमीय महत्वाकांक्षाएं पूरी की है और इस प्रकार ग्रामीण जीवन को सशक्त एवं समृद्ध बनाया है। 
    महिंद्रा ऐंड महिंद्रा फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड के विषय में 
                महिंद्रा ऐंड महिंद्रा फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड (महिंद्रा फाइनेंस), जो महिंद्रा समूह का घटक है, भारत की अग्रणी नाॅन-बैंकिंग फाइनेंस कंपनियों में से एक है। ग्रामीण और अर्द्ध-शहरी क्षेत्र पर केंद्रित, इस कंपनी के ग्राहकों की संख्या 6.1 मिलियन से अधिक है और इसका एयूएम 9 बिलियन अमेरिकी डाॅलर से अधिक है। यह कंपनी एक प्रमुख वाहन एवं ट्रैक्टर फाइनेंशियर हैं और यह एसएमई को फिक्स्ड डिपाॅजिट एव लोन भी उपलब्ध कराती है। देश भर में इसके 1313 कार्यालय हैं और देश के 3,50,000 गांवों एवं 7,000 शहरों के ग्राहकों तक इसकी पहुंच है।
                   महिंद्रा फाइनेंस भारत की इकलौती नाॅन-बैंकिंग फाइनेंस कंपनी है, जिसे डाउ जोन्स सस्टेनेबिलिटी इंडेक्स पर इमर्जिंग मार्केट कैटेगरी में सूचीबद्ध किया गया है। महिंद्रा फाइनेंस को ग्रेट प्लेस टू वर्क®  (जीपीटीडब्ल्यू) इंस्टीट्युट इंडिया द्वारा टाॅप 15 ‘‘इंडियाज बेस्ट वर्कप्लेसेज इन द बीएफएसआई सेगमेंट, 2018’’ की रैंकिंग दी गई।
                     कंपनी की बीमा ब्रोकिंग अनुषंगी, महिंद्रा इंश्योरेंस ब्रोकर्स लिमिटेड (एमआईबीएल) एक लाइसेंसशुदा कंपोजिट ब्रोकर है, जो डाइरेक्ट एवं रीइंश्योरेंस ब्रोकिंग सेवाएं उपलब्ध कराता है।
                  महिंद्रा रूरल हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड (एमआरएचएफएल), महिंद्रा फाइनेंस की अनुषंगी है, जो देश के ग्रामीण एवं अर्द्धशहरी क्षेत्रों में लोगों को मकान खरीदने, नवनिर्माण एवं विनिर्माण कराने हेतु ऋण उपलब्ध कराती है।
                  महिंद्रा एस्सेट मैनेजमेंट कंपनी प्राइवेट लिमिटेड (एमएएमसीपीएल), महिंद्रा फाइनेंस की पूर्ण स्वामित्व वाली अनुषंगी है और यह महिंद्रा म्युचुअल फंड के निवेश मैनेजर के रूप में काम कर रही है।
                 अमेरिका में कंपनी का संयुक्त उद्यम है, महिंद्रा फाइनेंस यूएसए एलएलसी, जिसमें राबो बैंक की अनुषंगी डे लागे लैंडेन साझीदार है और यह अमेरिका में महिंद्रा ट्रैक्टर्स की फाइनेंसिंग करती है।


    Share on Google Plus

    About www.rubarunews.com

    This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
      Blogger Comment
      Facebook Comment

    0 comments:

    Post a Comment