• --New-- Click here to Watch News channel online.
  • सफलता की कहानी- सामाजिक सरोकार निभान में मिनी बैंक बन रहे हैं अग्रणी | Rubaru news
    Powered by Blogger.

    सम्पर्क करे

    उमेश सक्सेना मो‌‌‌‌ 8269564898

    सफलता की कहानी- सामाजिक सरोकार निभान में मिनी बैंक बन रहे हैं अग्रणी


    श्योपुर 08/जून/2019 (rubarudesk) @www.rubarunews.com>>श्योपुर जिले में राज्य सरकार की मंशा के अनुरूप मप्र राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के माध्यम से ग्राम संगठन सामाजिक सरोकार निभाने में मिनी बैंक के रूप में अग्रणी बन रहे हैं। इस दिशा में ग्राम संगठन महिलाओं को समूह के रूप में आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में प्रेरित कर रहे हैं। 
                 जिले की तहसील श्योपुर के ग्राम जावदेश्वर की महिलाओं ने आर्थिक तरक्की की दिशा में समूह बनाकर बिना कागजात जमा किए मांगपत्र के आधार बर बिना गारंटी के लोन की सुविधा प्रदान की जाती है।  स्वसहायता समूहो एवं ग्राम संगठन की इस आवधारणा से ग्रामीण क्षेत्रो में दलित एवं पिछड़ी महिलाओं को आर्थिक उन्नति के रास्ते प्राप्त हुए है तथा वे व्यापार व्यवसाय कर अपने परिवार की आजीविका चलाने में न केवल संक्षम हुई है बल्कि बच्चो को अच्छी से अच्छी शिक्षा दिलाने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है। ग्राम संगठन न केवल स्वसहायता समूह एवं महिलाओं को ऋण प्रदान करने का संगठन मात्र है बल्कि सामाजिक सरोकारो में भी उसकी भूमिका अग्रणी है। 
                संकुल मानपुर के अनुसूचित जाति बहुल ग्राम जावदेश्वर में ग्राम संगठन अपनी भूमिका में पूरी तरह खरा उतरा है। गांव में शौचालय बनाने का काम चुनौती पूर्ण था लेकिन महालक्ष्मी ग्राम संगठन की अध्यक्ष द्वारिका बाई सचिव माया बैरवा और कोषा अध्यक्ष राममूर्ति के नेतृत्व में सभी 11 समूह की महिलाओं ने अपने-अपने घरो में शौचालय बनाने का जिम्मा उठाया और गावं के 200 घरो में शौचालय बन गए। ग्राम संगठन को इसके लिए ग्रामीण विकास विभाग द्वारा 24 लाख रूपये की राशि 12 हजार रूपये प्रति शौचालय के मान से प्रदाय की गई थी। जिसका भुगतान ग्राम संगठन द्वारा सभी हितग्राहियों को कर दिया गया है। ग्राम संगठन की अध्यक्ष द्वारिका बाई बताती है कि शासन से प्राप्त 24 लाख की राशि का ग्राम संगठन को 25 हजार रूपये ब्याज प्राप्त हुआ जिसे ग्राम संगठन के संचालन कार्य में होने वाली आवश्यक व्यय पर खर्च किया जाता है। इस ग्राम को खुले में शौच से मुक्त करने का संकल्प इन महिलाओं द्वारा लिया गया है। 
                ग्राम संगठन महालक्ष्मी का 4 लाख 30 हजार रूपये मिशन की और से प्रदाय किए गए। वर्तमान में ग्राम संगठन एवं एसएचजी की इंनटरलोनिग 24 लाख रूपये है। ग्राम संगठन को 90 हजार रूपये एसएचजी से ब्याज के प्राप्त होते है। इसी प्रकार संकुल सोईकंला अंतर्गत ग्राम संगठन रोशनी एंव एसएचजी का लेनदेन 26 लाख रूपये पहुंच गया है। यहां 152 परिवार स्वसहायता समूहो एवं ग्राम संगठन से जुड़े हुए है। जाटखेडा में कुल परिवार संख्या 157 है। उल्लेखनीय है कि ग्राम संगठन एवं स्वसहायता समूहो में इंटरलोनिग ओसतन 25 लाख रूपये के करीब है। जिससे स्वसहायता समूह की महिलाऐं अपने समूह से तथा समूह ग्राम संगठन से आजीविका गतिविधियो के लिए ऋण प्राप्त करते है यहां कोई गांरटी नही न ही कोई कागजात। बस ग्राम संगठन एवं स्वसहायता समूह की मीटिंग में महिलाऐं लोन देने का निर्णय लेती है।
             ग्राम जावदेश्वर की निवासी गीता बाई बैरवा ने बताया कि शंकर समूह में सदस्य के रूप में काम कर रही है। इस समूह के लिए 50 हजार रूपये लोन प्राप्त कर घर पर सब्जी और किराने की दुकान खोली है। इनके पति पहले मजदूरी करते थे, अब दुकान पर बैठकर व्यवसाय को आगे बढ़ाने में सक्षम बन रही है। गीता बाई बैरवा की व्यवसाय में हाथ बटाते है। इस दुकान पर बच्चो के कपड़े होजरी का सामान तथा स्टेशनरी भी उपलब्ध कराई जाती है। 
              इसी प्रकार बाबा रामदेव समूह की सदस्य मेवा बाई ने 15 हजार रूपये का ऋण प्राप्त कर जनरल स्टोर्स खोला है। जो जावदेश्वर में मानपुर मैन रोड पर स्थित हैं। इसके अलावा द्वारिका बाई ने 40 हजार रूपये का ऋण लेकर अपने पति को बीएल टेलर्स के नाम से सिलाई की दुकान खुलवाई है। टेलर की इस दुकान पर परिवार के और सदस्य भी सिलाई का काम करते है। 
             महिलाऐं आसानी से ऋण प्राप्त कर अपने परिवार की आमदनी में ईजाफा कर रही है और बच्चो को बेहतर शिक्षा दिलाने की और अग्रसर हो रही है। साथ ही समय पर ऋण की किस्त मय ब्याज के समूह और ग्राम संगठन को प्रदाय की जाती है और जो पैसा आता है उससे नए सदस्यो को ऋण प्रदान किया जाता है। जावदेश्वर एवं जाटखेडा में ग्राम संगठन के स्वयं के कार्यालय संचालित है। 
                   ग्राम संगठन से जुड़ी ग्राम जावदेश्वर की महिला गीता बाई बैरवा, द्वारिका बाई, मेवा बाई ने बताया कि शासन तथा प्रशासन के सहयोग से मप्र आजीविका मिशन द्वारा संचालित किए जा रहे स्वसहायता समूह सामाजिक उन्नति की दिशा में आगे बढ़ रही हैं। जिसका संपूर्ण श्रेय मप्र की सरकार और जिला प्रशासन को जाता है। 

    Share on Google Plus

    About www.rubarunews.com

    This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
      Blogger Comment
      Facebook Comment

    0 comments:

    Post a Comment