• --New-- Click here to Watch News channel online.
  • दस्तक अभियान में टीमों ने 79000 बच्चों को चिन्हाकित कर दवाईयां दी | Rubaru news
    Powered by Blogger.

    दस्तक अभियान में टीमों ने 79000 बच्चों को चिन्हाकित कर दवाईयां दी


    श्योपुर, 22/जुलाई/2019 (rubarudesk) @www.rubarunews.com>>कलेक्टर श्री बसंत कुर्रे की अध्यक्षता में समय-सीमा के प्रकरणों की समीक्षा बैठक आज कलेक्टर कार्यालय श्योपुर के सभाकक्ष में आयोजित की गई। इस बैठक में अवगत कराया कि दस्तक अभियान में घर-घर जाकर टीमों के माध्यम से 79000 बच्चों का चिन्हांकन किया जाकर आवश्यक दवाईयां उपलब्ध कराई गई। साथ ही कमजोर बच्चों को एनआरसी केंद्रों में भर्ती कराया जाकर उपचार किया जा रहा हैं। 
                     बैठक में जिला पंचायत के सीईओ  हर्ष सिंह, एसडीएम श्योपुर  रूपेश उपाध्याय, कराहल डाॅ. युनूस कुर्रेशी, सहायक आयुक्त आजाक  एलआर मीणा, उपसंचालक कृषि  पी गुजरे, आरटीओ एबी केबरे, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. ओपी वर्मा, डीएमओ  एके राजपूत, तहसीलदार कराहल  ओपी राजपूत, श्योपुर भरत नायक, प्राचार्य डाइट  राघवेन्द्र सिकरवार, प्रबंधक लोक सेवा  योगेश पुरोहित, कोषालय अधिकारी मुन्ना खान, महाविद्यालय के डाॅ. ओपी शर्मा एवं अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित थे। 
                              कलेक्टर  बसंत कुर्रे ने दस्तक अभियान की समीक्षा करते हुए कहा कि शेष छुटे हुए बच्चों की खोज घर-घर जाकर टीम करें। साथ ही मैदानी स्तर पर स्वास्थ्य एवं महिला बाल विकास विभाग के कर्मचारी दी गई जिम्मेदारियों का निर्वहन समय पर करें। उन्होंने कहा कि दस्तक अभियान में कोई भी बच्चा सर्वे से छूटना नहीं चाहिए। साथ ही हर प्रकार की बीमारी मिलने पर उसका उपचार अवश्य कराया जावे। उन्होंने कहा कि अगर बच्चों में निमोनिया, डायरिया, एनीमिया की बीमारी मिलती है। तब इन बीमारियों की दवाईयां दी जाकर स्वास्थ्य बेहतर बनाने के प्रयास जारी रखें। कलेक्टर ने कहा कि प्रभारी मंत्री श्री केसी गुप्ता का भ्रमण श्योपुर जिले में होने वाला है। इसलिए शासन की हितग्राही मूलक योजना और विकास की उपलब्धि की दिशा में जानकारी तैयार की जावे। 
    कलेक्टर ने कहा कि आरबीसी 6,4 के अंतर्गत आपदा से संबंधित प्रकरण तैयार करने की कार्यवाही राजस्व अधिकारी सुनिश्चित करें। साथ ही आकशीय बिजली, सड़क दुर्घटना आदि के प्रकरणो में समय पर सहायता राशि पीड़ित परिवारों को प्रदान करने की कार्यवाही की जावे। उन्होंने कहा कि पीएचई विभाग के अंतर्गत ऐसे बोर एवं नल-जल योजना की लाइन जिनमें राइजर पाइप बढ़ाने की आवश्यकता है। उनमें पाइप बढ़ाने की कार्यवाही शीघ्र की जावे। उन्होंने कहा कि बिजली कंपनी के अधिकारी वोल्टेज की समस्या का निदान सुनिश्चित करें। साथ ही सेड्यूल के अनुसार शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में उपभोक्ताओं को बिजली दी जावे। कलेक्टर ने कहा कि बच्चों को एलबंडाजोल टेबलेट खिलाने की कार्यवाही जारी रखी जावे। ऐसे कमजोर बच्चे जो एनआरसी में भर्ती हैं और उनको ब्लड की आवश्यकता हैं। इस दिशा में स्वयंसेवी संस्थाओं का सहयोग लिया जाकर ब्लड चढ़ाने की व्यवस्था सुनिश्चित की जावे। 
                             जिला पंचायत के सीईओ श्री हर्ष सिंह ने बैठक में कहा कि शासन की जनहितैषी एवं कल्याणकारी योजनाओं के अलावा विकास कार्यों को आगे बढ़ाने के प्रयास किए जावें। साथ ही ऐसे कार्य जो प्रगति पर चल रहे हैं, उनकों पूरा कराने की पहल की जावे। हितग्राही मूलक योजनाओं की लक्ष्य पूर्ति की दिशा में संबंधित विभागीय अधिकारी बैंकों को प्रकरण प्रेषित करें। साथ ही उनमें स्वीकृति दिलवाकर हितग्राहियों को यूनिट स्थापित करने के लिए लोन दिलवाएं। 
                            पीजी काॅलेज के प्रो. डाॅ. ओपी शर्मा ने मतदाता सूची में नाम जुड़वाने की दिशा में जानकारी दी। साथ ही 01 जनवरी 2019 में 18 वर्ष की आयु पूर्ण करने वाले युवा मतदाताओं को फार्म-6 भरकर बीएलओ को प्रदान करने के बारे में अवगत कराया। इसी प्रकार कलेक्टर कार्यालय के रीडर श्री दिलीप बंसल ने मतदाता सूची तैयार करने की दिशा में बीएलओ के माध्यम से की जा रही कार्यवाईयों की जानकारी दी। 
    प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की समीक्षा
                            कलेक्टर श्री बसंत कुर्रे ने टीएल बैठक में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि येाजना के अंतर्गत किसानों को 6 हजार रूपए की राशि प्रदान करने की दिशा में पटवारियों द्वारा 68 हजार 772 की जानकारी प्राप्त की है। जिसमें से 41 हजार 660 के नाम पोर्टल पर अपलोड किए जा चुके हैं। शेष किसानों के भी नाम अपलोड करने की कार्यवाही शीघ्र की जावेगी। उन्होंने कहा कि योजना में प्रगति की स्थित ठीक है। इसलिए, 01 लाख 33 हजार किसानों के नाम दर्ज कर शत् प्रतिशत उपलब्धि अर्जित की जावे। 
    स्कूलों में दर्ज छात्रों की उपस्थित पर की चर्चा  
                             कलेक्टर श्री बसंत कुर्रे ने टीएल बैठक में जिले के शिक्षा एवं आदिम जाति कल्याण विभाग के अंतर्गत संचालित विद्यालयों में छात्रों की उपस्थित पर चर्चा की। साथ ही सभी विद्यालयों में दर्ज छात्रों के अनुसार उपस्थिति सुनिश्चित कराने के निर्देश जिला शिक्षा अधिकारी एवं सहायक आयुक्त आदिम जाति कल्याण विभाग को दिए।  कलेक्टर ने कहा कि प्राचार्य एवं प्रधानाध्यापक और शिक्षकों को शत् प्रतिशत छात्रों की उपलब्धि सुनिश्चित कराने के लिए पाबंद किया जावे। साथ ही बीईओ, बीआरसी को भी कार्यवाही करने के लिए पाबंद किया जावे।  
    खाद बीज की व्यवस्था समुचित रूप से होनी चाहिए  
                               कलेक्टर श्री बसंत कुर्रे ने समय-सीमा के प्रकरणों की बैठक में विभागीय अधिकारियों से कहा कि किसानों की खरीफ फसल के लिए खाद-बीज की व्यवस्था होनी चाहिए। इस दिशा में कम वर्षा में पेदा होने वाली फसलों की बोनी के लिए किसानों को सलाह दी जावे। जिसमें उड़द, मूंग, सोयाबीन की फसलों की बोनी कर अच्छी पैदावार ली जा सकती है।  साथ ही उद्यानिकि विभाग के माध्यम से किसानों को साग-भाजी की खेती के लिए प्रेरित करने के प्रयास किए जावें। जिसमें राष्ट्रीय आजीविका मिशन के अधिकारी/कर्मचारियों का सहयोग लिया जा सकता है। 
    पशु चिकित्सा, मछली पालन की दिशा में की चर्चा 
                          कलेक्टर श्री बसंत कुर्रे ने टीएल बैठक में पशु चिकित्सा एवं मछली पालन के अधिकारियों से चर्चा करते हुए कहा कि फील्ड में पशुओं का उपचार कराने की व्यवस्था एबीएफओ एवं अधीनस्थ अमले से सुनिश्चित कराई जावे। साथ ही मैदानी अमले को फील्ड में रहने के लिए पाबंद किया जावे। इसी प्रकार मछली पालन की दिशा में कराहल के तालाब को संरक्षित किया जावे।
    केंद्र से प्राप्त आवेदनों का निराकरण करने के निर्देश
                          कलेक्टर श्री बसंत कुर्रे ने टीएल बैठक में केंद्र से प्राप्त होने वाले जन सामान्य के प्रकरणों की विभागवार समीक्षा की। साथ ही समीक्षा के दौरान सीईओ जिला पंचायत, एडीएम, स्वास्थ्य ,सीईओ जनपद, आईटीआई, खेल विभाग, पीएचई, पीडब्ल्यूडी, महिला बाल विकास, खाद्य, राजस्व, तहसीलदार, सीएमओ नपा नगरीय निकाय, डीआईसी, मछली पालन, कृषि, वन, पुलिस, विद्युत कंपनी, श्रम, शिक्षा आदि विभागों में के अलावा अन्य विभागों के लंबित प्रकरणों का निराकरण एक सप्ताह में करने के निर्देश दिए।  
    सीएम हेल्पलाइन के प्रकरणों की समीक्षा
                           कलेक्टर श्री बसंत कुर्रे ने टीएल बैठक में समय-सीमा के प्रकरणों की समीक्षा प्रजेंटेशन के माध्यम से विभागवार की गई। इसमें सीएम हेल्पलाइन के अंतर्गत लेवल-1 से लेकर लेवल-4 तक के प्रकरणों का निराकरण किया जावे। इसी प्रकार निराकरण एक सप्ताह में होना चाहिए। साथ ही 300 एवं 500 दिवस के प्रकरण सर्वोच्च प्राथमिकता पर निराकृत किए जावे। इसके अलावा 100 दिवस के प्रकरणों के लिए विभागवार समीक्षा की गई। साथ ही सीएम हेल्पलाइन के अंतर्गत विभागीय अधिकारियों द्वारा बिना अटैंड किए गए प्रकरणों की भी समीक्षा हुई। इन प्रकरणों का निराकरण 7 दिवस में कराने के निर्देश विभागीय अधिकारियों को दिए।  
    जनसुनवाई के आवेदनों की समीक्षा
                            कलेक्टर श्री बसंत कुर्रे की अध्यक्षता में आयोजित टीएल बैठक के दौरान जनसुनवाई के दौरान प्राप्त होने वाले विभिन्न विभागों के आवेदनों के निराकरण की समीक्षा की गई। साथ ही विभागीय अधिकारियों को प्राप्त आवेदनों का निराकरण एक सप्ताह में करने के निर्देश दिए। 
    समय-सीमा के आवेदनों के निराकरण पर की चर्चा  
                           कलेक्टर श्री बसंत कुर्रे ने समय-सीमा के आवेदनों की समीक्षा बैठक के दौरान विभिन्न विभागों को टाइम लिमिट के अग्रेषित किए गए आवेदनों की विभागवार समीक्षा की। साथ ही विभागीय अधिकारियों को सात दिवस में आवेदन निराकृत करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने कहा कि जिन-जिन विभागों में अधिक से अधिक आवेदन लंबित हैं वे उनका निराकरण अधीनस्थ अमले के साथ गंभीरतापूर्वक निराकृत करें। यह कार्यवाही एक सप्ताह में पूरी कराई जावे।


    Share on Google Plus

    About www.rubarunews.com

    This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
      Blogger Comment
      Facebook Comment

    0 comments:

    Post a Comment