• --New-- Click here to Watch News channel online.
  • अधिकारी/कर्मचारियों की फील्ड में उपस्थिति दिखनी चाहिए-कलेक्टर | Rubaru news
    Powered by Blogger.

    अधिकारी/कर्मचारियों की फील्ड में उपस्थिति दिखनी चाहिए-कलेक्टर


    श्योपुर, 13/जुलाई/2019 (rubarudesk) @www.rubarunews.com>>       कलेक्टर बसंत कुर्रे की अध्यक्षता में कुपोषण एवं मौसमी बिमारियो से बचाव से  शिक्षा/स्वास्थ्य/महिला बाल विकास, आदिम जाति कल्याण, पीएचई, ग्रामीण विकास विभाग की संयुक्त बैठक आज निषादराज भवन जिला पंचायत कैम्पस श्योपुर पर आयोजित की गई। इस बैठक में  मौसमी बिमारियों से बचाव, स्कूलों मे शिक्षको की नियमित उपस्थिति व आंगनबाडी केन्द्रो के समय पर खोलने के अलावा बच्चो की उपस्थिति एवं माध्यन्ह भोजन व पोषण आहार, स्कूल एवं आंगनबाडी भवन निर्माण, हैण्डपम्प एवं नलजल योजना का संधारण कार्य की समीक्षा की गई।
    इस दौरान जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी  हर्ष सिंह, अपर कलेक्टर  दिलीप कापसे, संबंधित विभागों के जिला/अनुभाग/तहसील/विकासखण्ड स्तरीय अधिकारी तथा फील्ड के कर्मचारी उपस्थित थे।
             
     कलेक्टर बसंत कुर्रे ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि स्वास्थ्य एवं महिला बाल विकास विभाग का मैदानी अमला संयुक्त रूप से मौसमी बीमारियों के रोकथाम के लिए फील्ड में रहकर ग्रामीण महिला/पुरूषो तथा बच्चो का स्वास्थ्य परीक्षण करे। साथ ही बीमारी होने पर उनके उपचार की उचित व्यवस्था की जावे। उन्होने कहा कि आंगनबाडी केन्द्र समय पर खुलना चाहिए जिसके लिए प्रातः
    09 बजे से सांय 04 बजे तक बच्चो को पोषण आहार, माध्यान्ह भोजन और प्रारभिक शिक्षा प्रदान की जावे। उन्होने कहा कि फील्ड मे पदस्थ महिला बाल विकास विभाग की सुपरवाईजर एवं एएनएम, एमपीडब्ल्यू के कार्यो पर वरिष्ठ अधिकारी सतत् निगाह रखे। साथ ही आगनबाडी केन्द्रो पर एवं ग्रामीण क्षेत्रो में सहरिया परिवारो को कमजोर बच्चो को एनआरसी केन्द्रो में भर्ती कराकर उनके उपचार की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित करावे। इस दौरान मलेरिया, लैप्रोसी की बीमारी अगर किसी व्यक्ति मे पाई जाती है। ऐसे मरीजो को शासकीय अस्पताल मे उपचार के लिए भिजवाया जायेे।
                   कलेक्टर ने कहा कि अधिकारी/कर्मचारियो का जो-जो जिम्मेदारी दी गई है उन वेसिक जिम्मेदारियो का निर्वहन पूरी जिम्मेदारी से किया जावे। उन्होने कहा कि फील्ड मे अच्छा काम करने वाले अधिकारी/कर्मचारियो को पुरूस्कृत किया जावेगा। साथ ही काम नही करने वालो पर सक्त कार्यवाही की जावेगी। उन्होने कहा कि संबंधित विभागो का मैदानी अमला कोडिनेशन के साथ कार्य करेगा। तब उपलब्धि अवश्य प्राप्त होगी। उन्होने कहा कि स्कूलो में छात्रो को साफ-सफाई के प्रति जागरूक किया जावे। साथ ही स्वच्छता की समझाइश भी दी जावे। जिससे छात्र उज्ज्जवल भविष्य की ओर अच्छी शिक्षा प्राप्त करने में सहायक बन सके। उन्होने कहा सीईओ जनपद अपने क्षेत्र के विभिन्न समितियो की बैठक आयोजित कर पेंशन के कार्य की समीक्षा करे। साथ ही पात्र लोगो के नाम सूची में जुडवाये जावे। उन्होने कहा कि राशन व्यवस्था को चुस्त और दुरूस्त बनाया जावे। उन्होने कहा कि बीएससी अपने विद्यालय में अवश्य पढावे। बीएससी की आफीस में बैठने की आवश्यकता नही है। इस दिशा में जिला शिक्षा अधिकारी  वकील सिहं रावत एंव सहायक आयुक्त आदिम जाति कल्याण  एलआर मीणा कार्यवाही सुनिश्चित करे। उन्होने कहा कि निरीक्षण फील्ड में नही करने वाले बीएससी की एक वेतनवृद्धि रोकने की भी कार्यवाही की जावे। इसी प्रकार सीएमएचओ डाॅ एके करोरिया दस्तक अभियान के अतंर्गत जो गांव छूट गये है। उन गांवो में टीम द्वारा लक्ष्य पूर्ति की दिशा मंें शत-प्रतिशत उपलब्धि प्राप्त करने की कोशिश करे। उन्होने कहा कि सुपरविजन अधिकारी भी फील्ड में जाकर के अपनी जिम्मेदारियो का गंभीरता पूर्वक निर्वहन करे। कलेक्टर ने कहा कि लटावनी आगनबाडी केन्द्र पर बच्चो को पोषण आहार एवं माध्यान्ह भोजन नही मिलने के कार्य का पर्यवेक्षण क्षेत्रीय सुपरवाईजर द्वारा नही किया गया है। जिस पर से महिला बाल विकास अधिकारी श्री ओपी पाण्डेय को सुपरवाईजर को हटाने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि जिन-जिन स्कूलो के नये भवन बन गये है। उनमें विद्यालय पुराने भवनो से शिफ्ट कर नये भवन में लगाये जावे। साथ ही ऐसे विद्यालय जिनकी छतो से पानी टपकता है उनकी मरम्मत ग्राम पंचायत को उपलब्ध कराई गई 10 लाख रूपये की राशि से कराई जावे। इस कार्य की माॅनीटरिंग उपयंत्री सुनिश्चित करे। उन्होने कहा कि आदिम जाति कल्याण विभाग के हाॅस्टलो में छात्र-छात्राओ की उपस्थिति अत्यन्त कम है। उनमें शत-प्रतिशत छात्रो की उपस्थिति सुनिश्चित की जावे। साथ ही विद्यालयो में भी छात्रो की उपस्थिति 50 प्रतिशत है। जिसे शत-प्रतिशत कराया जावे। उन्होने कहा कि जिला शिक्षा अधिकारी शिक्षको के प्रशिक्षण कार्य को स्वयं हैण्डिल कर रहे है। जिसके कारण स्कूलो में शिक्षक शत-प्रतिशत उपस्थित नही हो पा रहे है। इस कार्य पर सीईओ जिला पंचायत श्री हर्ष सिंह नियत्रंण रखकर कार्यवाहियो को संपादित कराने की पहल करे। उन्होने कहा कि ब्लाॅक मेडिलक आफीसर कराहल, विजयपुर के एनआरसी केन्द्रो में 40-40 बेडो पर कमजोर बच्चो का उपचार कर उनकी गे्रड सुधारने के प्रयास करे। उन्होने दस्तक अभियान के अतंर्गत टीमो द्वारा किये जा रहे कार्यो को 20 जुलाई से पूर्व पूरा कराने के निर्देश विभागीय अधिकारियों को दिये।
                     जिला पंचायत के सीईओ  हर्ष सिंह ने बैठक में कहा कि दस्तक अभियान को अभियान की शेष अवधि में विभागीय अधिकारी/कर्मचारी पूरी मुस्तैदी के साथ चलावे। साथ ही अभियान के अतंर्गत शत-प्रतिशत उपलब्धि हासिल की जावे। इस दिशा में नियुक्त टीमे निरंतर कार्यवाही करती हुई अभियान से छूटे हुए गांवो में अपनी कार्यवाहियो का निर्वहन करे। साथ ही विटीज के दौरान आवश्यक दवाईया नागरिको को उपलब्ध कराई जावे। जिन गांवो में कमजोर बच्चे मिलते है उनको तत्काल एनआरसी केन्द्र में उपचार कराने के लिए भर्ती करावे। उन्होने कहा कि आदिवासी विकासखण्ड कराहल के कलमी क्षेत्र मे निरीक्षण के दौरान प्रा./मा. विद्यालयो में शिक्षको की उपस्थिति कम थी। इस दिशा मे सहायक आयुक्त आदिम जाति कल्याण सभी विद्यालयों मे शत-प्रतिशत शिक्षको की उपस्थिति सुनिश्चित करावे। उन्होने कहा कि स्वास्थ्य, महिला बाल विकास विभाग के अधिकारी/कर्मचारी अपनी वेसिक जिम्मेदारियों को निभावे। साथ ही आदिवासी बाहुल्य ग्रामों के दस्तक अभियान के अंतर्गत चिन्हाकित कमजोर बच्चो को एनआरसी केन्द्र में भर्ती करावे। उन्होने कहा कि आगनबाडी केन्द्र एवं स्कूलो में मीनू के अनुसार मध्यान्ह भोजन छात्रो को उपलब्ध कराने की दिशा के संबंधित विभागीय अधिकारी आत्म चितंन कर कार्यवाही सुनिश्चित करे। उन्होने कहा कि सीडीपीओ एवं जनशिक्षको की रिर्पोट उपलब्ध कराई जावे। जिससे हर हफ्ते किये गये कार्य की समीक्षा की जा सके। 
                 अपर कलेक्टर  दिलीप कापसे ने बैठक में कहा कि स्वास्थ्य, शिक्षा, आदिम जाति कल्याण एवं महिला बाल विकास के अधिकारी/कर्मचारी फील्ड में रहकर अपनी मैती जिम्मेदारियो का निर्वहन करे। साथ ही की जाने वाली कार्यवाही से सीनियर आफीसरो को अवगत करावे। जिससे श्योपुर जिला योजनाओ एवं विकास की दिशा में प्रगति की राह पकड सके। उन्होने कहा कि सुपरवाईजरो के दौरा कार्यक्रम का परीक्षण सीडीपीओ सुनिश्चित करे। साथ ही उनके कार्य का मूल्याकंन भी हर सप्ताह करने की पहल करे। बैठक में विभागीय अधिकारियों को दस्तक अभियान के अतर्गत की जा रही कार्यवाहियो से अवगत कराया। साथ ही बैठक में लिये गये निर्णय के अनुसार विद्यालयो एवं आगनबाडी केन्द्रो की व्यवस्थाओ को सुधारने के लिए आश्वस्त किया।

    Share on Google Plus

    About www.rubarunews.com

    This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
      Blogger Comment
      Facebook Comment

    0 comments:

    Post a Comment