• --New-- Click here to Watch News channel online.
  • विशाल नि:शुल्क नेत्र जांच व आपरेशन परामर्श शिविर में 126 मरीजों को मिला लाभ | Rubaru news
    Powered by Blogger.

    विशाल नि:शुल्क नेत्र जांच व आपरेशन परामर्श शिविर में 126 मरीजों को मिला लाभ

    बूंदी (KrishnaKantRatjore) @www.rubarunews.com- बूंदी में गरीब व जरूरत मंद रोगियों व पीड़ित मानवता की सेवा का ध्यान में रखते हुए आज अग्रवाल आई एंड स्किन हॉस्पिटल खोजा गेट रोड बूंदी पर अग्रवाल आई एंड स्किन हॉस्पिटल एवं उमंग संस्थान द्वारा एक विशाल नि:शुल्क नेत्र रोग परामर्श एवं ऑपरेशन शिविर प्रातः 10 से दोपहर 02 बजे तक आयोजित किया गया। 
                                       शिविर का शुभारंभ प्रख्यात इतिहासविद डॉ. एस एल नागौरी ने गणपति की पूजा अर्चना के साथ किया। इसके उपरांत उमंग संस्थान के सचिव कृष्णकांत राठौर एवं सदस्यों द्वारा डॉ. एस एल नागौरी , डॉ.संजय गुप्ता ,चतुर्भुज महावर, के सी वर्मा का माल्यार्पण शिविर का शुभारंभ किया।
                                    शिविर संयोजक अभिलेष शर्मा तथा शिविर प्रभारी ज्योत्सना खत्री ने बताया कि इस शिविर में कुल 126 मरीजों ने पहुंचकर निशुल्क जांच एवं परामर्श का लाभ लिया तथा 15 नेत्र रोगियों का चयन ऑपरेशन हेतु किया गया। शिविर में नि:शुल्क सेवा दे रहे अग्रवाल आई एंड स्किन हॉस्पिटल के नेत्र रोग विशेषज्ञ व फेको सर्जन डॉ संजय गुप्ता ने बताया कि अग्रवाल आई एंड  स्किन हॉस्पिटल पिछले 4 वर्षों से बूंदी शहर में नेत्रों के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करता रहा है, अब तक अस्पताल द्वारा 2600 का नेत्र ऑपरेशन किया है। गुप्ता ने बताया कि हमारा उद्देश्य है की जिन लोगों को आरती परेशानी के कारण उत्तम उपकरणों से युक्त उच्च स्तरीय चिकित्सा सुविधा नहीं मिल पाती है उनको इन शिविरों के माध्यम से नि:शुल्क नेत्र जांच एवं परामर्श की सुविधा मिल सके तथा ऑपरेशन हेतु चयनित मरीजों को  शिविर के माध्यम से विशेष छूट भी दी जाती है। हमारे यहां आने वाले रोगियों का टोपिकल फेको पदति दुवारा अमेरिकन सोवेरियन वाइट स्टार फेको मशीन से बिना सुई बिना टांके व बिना पट्ठी के रियायती दरों पर मोतियाबिंद ऑपरेशन व फोल्डेबल लेंस प्रत्यारोपण किया जाता है। डॉ. गुप्ता ने बताया की फेको पद्धति के आने के पश्च्यात नेत्र विज्ञान के क्षेत्र में क्रांतिकारी परिवर्तन हुआ है जिससे मोतियाबिंद आपरेशन के परिणाम सबसे सुरक्षित व बेहतर हो गए है, इस पद्धति में मोतियाबिंद को कम ऊर्जा व सुगमता से काटा जाता है। जिससे पुतली की कोशिकाओं को बहुत ही कम नुकसान पहुचता है व उसकी पारदर्शिता बनी रहती है और रोगी को अगले दिन ही बेहतर रौशनी मिल जाती है।
                                  इस शिविर में मोतियाबिंद, कालापानी, नाखूना, नासूर, भेंगापन, मूंदी पलके,आँखों की एलर्जी, ड्राई आई , बच्चो में होने वाला मोतियाबिंद, बच्चो का नासूर, दृष्टिदोष चोट के पश्चात् बनने वाला मोतियाबिंद मधुमेह एवं उच्च रक्तचाप से होने वाली परदे की बीमारियों आदि समस्त रोगों की नि:शुल्क जांच व उपचार किया गया। 
                                      इस अवसर पर बोलते हुए मुख्य अतिथि डॉ. एस.एल.नागौरी ने कहा कि अग्रवाल आई एंड स्किन हॉस्पिटल जो की अत्याधुनिक उपकरणों एवंं उच्च स्तरीय टेक्नोलॉजी से सुसज्जित जिले का एकमात्र अस्पताल हैैै जहां आनेे वाले रोगियों को वरिष्ठ फेंको सर्जन डॉक्टर संजय गुप्ता की  उच्च स्तरीय  सेवा मिलती है । डॉ. गुप्ता शुरू से ही परमार्थ के कार्य में निरंतर लगे हुए इनके द्वारा कई असहाय, बेसहारा व गरीब मरीजोंं का नि:शुल्क ऑपरेशन भी किया हुआ है। जोकि बहुत पुणे का कार्य है डॉ गुप्ताता द्वारा लोगों की जिंदगी में फिर से रोशनी लाकर अत्यंत पुण्य का कार्य किया जा रहा है। हम उमंग संस्थान एवं अग्रवाल आई एंड स्किन हॉस्पिटल के उज्जवल भविष्य की कामना करते यही आशा करते हैं कि यह निरंतर इसी तरह परमार्थ का कार्य करते रहे। 
                                      इस अवसर पर शिक्षाविद चतुर्भुज महावर, रोटेरियन के.सी. वर्मा,  उमंग संस्थान सचिव कृष्ण कान्त राठौर,  उपाध्यक्ष विनोद गौतम, कार्यक्रम प्रभारी सर्वेश तिवारी, शिविर संयोजक अभिलेष शर्मा,  ज्योत्सना खत्री, पवन सिखवाल, महेश श्रन्गी, कमलेश शर्मा, रजिया खातून, रमेश पारीक, हॉस्पीटल प्रबंधक जय सिंह सोलंकी, लीलाधर मालव, मनोज मीणा, सीताराम, शफ़ीक, ,स्वीटी खत्री, नेहा शर्मा आदि पदाधिकारी एवं कर्मचारी मौजूद रहे।
    Share on Google Plus

    About www.rubarunews.com

    This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
      Blogger Comment
      Facebook Comment

    0 comments:

    Post a Comment