• --New-- Click here to Watch News channel online.
  • एटीएम बूथ पर पलक झपकते बदमाश बदल रहे कार्ड | Rubaru news
    Powered by Blogger.

    एटीएम बूथ पर पलक झपकते बदमाश बदल रहे कार्ड

    भिण्ड 04/नवम्बर/2019 (rubarudesk) @www.rubarunews.com >> शहर में मदत के नाम पर एटीएम कार्ड बदलकर दूसरे के खाते से पैसा उड़ाने वाला गिरोह शहर में सक्रिय हो गया है इस तरह की जन चर्चा हो रही है जो आपके कार्ड पर नजर बनाए हुए हैं ऐसे लोगों से सतर्क रहे। आये दिन लोगों की गाड़ी कमाई पार कर बदमाश रफू-चक्कर हो रहे हैं जिसके बाद भी जिम्मेदार ध्यान नहीं दे रहे हैं न तो सुरक्षा का जिंभा बैंक प्रबंधन लेने को तैयार है और न ही पुलिस ऐसे आरोपी व बदमाशों दबोचने में रूचि ले रही है जिस कारण चोर, बदमाशों के हौसले बुलंद हैं और लोगों के रुपये उड़ाने में लगे हुए हैं। तात्कालीन एसपी नवनीत भसीन ने एटीएम कार्ड बदलने वाला गिरोह पकड़ा था और उनसे बड़ी संख्या में एटीएम कार्ड भी बरामद हुए थे, जिसके बाद एटीएम बूथ पर इस तरह की ठगी बंद हो गई थी, लेकिन अब इस ओर पुलिस ध्यान नहीं दे रही है जिस कारण इनके हौंसले फिर से बुलंद हो गये हैं। दूर-दराज से भोले-भाले ग्रामीण एटीएम बूथ से रुपये आहरण करने के लिए आते हैं तो इनकी ठगी का शिकार हो जाते हैं यह सब खेल इसलिए हो रहा है शहर सहित अंचल में किसी भी एटीएम बूथ पर गार्ड नहीं होते और मदत मांगे तो किससे। लोगों के जब खाते से रुपये नहीं निकलती और मशीन चलने के बाद मैसेज आता है कि रुपये आहरण हो गये हैं जिस कारण लोगों को मदत लेनी पड़ती है उन्हें क्या पता मदत करने वाला उनके खाते से रुपये निकाल कर रफू-चक्कर हो जायेगा। बैंक प्रबंधन को एटीएम बूथ पर सुरक्षा गार्ड रखने चाहिए या फिर प्रायवेट कंपनियों को एटीएम बूथ का जिम्भा दिया गया है उन्हें इस ओर ध्यान देना चाहिए ताकि लोग इन बदमाशों के ठगी का शिकार न हो सके।
    न्यू पुलिस लाइन एटीएम बूथ पर अक्सर बदलते कार्ड

                    कमलेश पुत्र भागीरथ जाटव निवासी चार घर का पुरा ने 2 नवम्बर दोपहर 12.30 बजे मकान बनाने के लिए रूपये आहरण करने के लिए गया था, लेकिन मशीन मेंं तकनीकि खराबी आने के कारण, दूसरे मदत मांगी तो उसने पलक झपकते कार्ड बदल दिया, जिसके बाद अन्य बूथ से उसके खाते से लगभग 40 हजार रुपये की रकम पार कर दी। इसी तरह विगत दिनों एक पुलिस जवान इसी बूथ से रुपये निकालने के लिए गया था और उसके साथ भी इसी तरह की बारदात घटित हुई।
    फरियादी पहले थाने पहुंचा, फिर एसपी को दिया आवेदन
                   कमलेश के साथ ठगी होने के बाद सबसे पहले एसबीआई बैंक की शाखा में आवेदन देने पहुंचा, फिर थाने में जैसे ही आवेदन दिया तो पुलिस ने उसे भगा दिया, जिसके बाद एसपी कार्यालय पहुंचकर पुलिस अधीक्षक रूडोल्फ अल्बारेस को आवेदन दिया तो उन्होंने कार्यवाही करने का आश्वासन दिया है। इस संबंध में जब थाना प्रभारी को कॉल लगाया गया तो उन्होंने कहा मुझे जानकारी नहीं हैं फरियादी को बोले थाने में आकर आवेदन दे, जिसके बाद कार्यवाही की जायेगी। जिसके बाद थानेदार ने कार्यवाही का आश्वासन दिया है।
    कैमरों के भरोसे सुरक्षित एटीएम बूथ
                    सूट-बूट पहनकर एटीएम बूथ से रुपये आहरण करने के नाम पर अन्दर आकर रुपये निकालते हैं और इसी दौरान लोगों की मदत करते वक्त उनका एटीएम बदलकर रफू-चक्कर हो जाते हैं। लहार चुंगी, इटावा चुंगी, सुभाष तिराहा, जेल रोड, हनुमान बजरिया, हाटा बाजार, हाउसिंग कॉलोनी, अस्पताल रोड, अटेर रोड, शहर थाना के पास, पुस्तक बाजार, रेलवे स्टेशन, ग्वालियर रोड, भारौली तिराहा आदि जगह दो दर्जन से अधिक एटीएम बूथ संचाालित हो रहे हैं जो सिर्फ कैमरों के भरोसे सुरक्षित हैं। 
    क्या न करें
    - कार्ड पर अपना पिन नंबर कभी न लिखें। हमेशा उसे याद रखें।
    - अनजान लोगों से एटीएम ट्रांजैक्शन में मदद न लें या फिर किसी अन्य को ट्रांजैक्शन के लिए कार्ड न दें।
    - किसी भी शख्स को अपना एटीएम पिन न बताएं। यहां तक कि बैंक कर्मचारी और फैमिली मेंबर्स को भी यह जानकारी न दें।
    - पेमेंट के दौरान कार्ड पर पूरी नजर रखें और उसे नजरों से ओझल न होने दें।
    - ट्रांजैक्शन के दौरान मोबाइल फोन पर बात करने से बचें। 
    हमेशा रखें ये सावधानियां
    - एटीएम ट्रांजैक्शन के दौरान पूरी प्रिवेसी रखें। यह सुनिश्चित करें कि एटीएम मशीन में पिन नंबर दर्ज करते वक्त कोई देख न रहा हो।
    - ट्रांजैक्शन के बाद यह देखें कि मशीन में वेलकम स्क्रीन आ गई हो। उससे पहले मशीन न छोड़ें।
    - यह सुनिश्चित करें कि आपका मौजूदा मोबाइल नंबर बैंक में रजिस्टर्ड हो। इससे आपको बैंक से सभी ट्रांजैक्शंस के अलर्ट मिल सकेंगे।
    - एटीएम के पास लोगों की संदेहास्पद मूवमेंट पर नजर रखें और अनजान लोगों से बातचीत में व्यस्त होने से बचें।
    -एटीएम कार्ड खोने या चोरी होने पर तुरंत बैंक को सूचित करें।
    - बैंक से आने वाले ट्रांजैक्शन अलर्ट और बैंक स्टेटमेंट को नियमित रूप से देखें।
    - एटीएम से कैश न निकलने और पैसे कटने की स्थिति में तुरंत बैंक को सूचित करें।
    - कोई भी ट्रांजैक्शन करने के बाद तुरंत मोबाइल पर एसएमएस चेक करें।
    Share on Google Plus

    About www.rubarunews.com

    This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
      Blogger Comment
      Facebook Comment

    0 comments:

    Post a Comment