• --New-- Click here to Watch News channel online.
  • घटिया निर्माण की खुली पोल, शौच मुक्त सर्वे से पहले टूटा सार्वजनिक शौचालय का सेप्टिक टैंक | Rubaru news
    Powered by Blogger.

    घटिया निर्माण की खुली पोल, शौच मुक्त सर्वे से पहले टूटा सार्वजनिक शौचालय का सेप्टिक टैंक

    भिण्ड16/नवम्बर/2019(rubarudesk) @www.rubarunews.com>> गोहद स्वच्छ भारत मिशन के तहत सभी शहरों को खुले में शौच से मुक्त करने के लिए ओडीएफ सर्टिफिकेट प्रदान किए जायेंगे। जिसकी सर्वे टीम के आने से पहले नगर पालिका द्वारा निर्मित सर्वश्रेष्ठ शौचालय का सेप्टिक टैंक खराब गुणवता के कारण निर्माण के कुछ महीनों बाद ही फुट गया। जिससे क्षेत्र में चारो ओर बदबू फैल गयी, जिससे लोगो को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। कुछ ही दिनों में शौच मुक्तकी सर्वे टीम नगर में आने वाली है। नगर पालिका द्वारा ओडीएफ मानकों की कहीं पर भी पूर्ति नहीं  हो पा रही है। ओडीएफ मानकों  के अनुसार शहर में कहीं पर भी खुले में शौच नहीं होनी चाहिए ,नगर पालिका द्वारा सार्वजनिक सार्वजनिक एवं सामुदायिक शौचालय निर्माण एवं रख-रखाव करना चाहिए, शौचालय में पानी की व्यवस्था उचित लाइट की व्यवस्था हवा की व्यवस्था होनी चाहिए, शौचालय में किसी भी तरह की टूटफूट नहीं होनी चाहिए हाथ धोने के लिए साबुन की व्यवस्था ,बॉस बेसन की की व्यवस्था, बच्चों के लिए अलग शौचालय जिनमें गेट की जगह पर परदे लगे होने चाहिए। दिव्यांगों के लिए शौचालय में रेम्प बना होना चाहिए एवं उनके लिए अलग से शौचालय की व्यवस्था हो जिसकी सीट जिसकी सीट पाश्चात्य तरीके हो। शौचालय 24 घंटे चालू रहने चाहिए जिस पर पर चाहिए जिस पर रखरखाव के लिए एक व्यक्ति अनिवार्य रूप से होना चाहिए, शौचालय में बिजली का कनेक्शन होना चाहिए।

                     बिना मानक पूरे किये नगर में शौंचालयों का निर्माण घटिया मटेरियल से कराया जा रहा है  नगर पालिका किसी मानक पर भी खरी नहीं उतर रही है लोग खुले में शौच कर रहे हैं बरथरा रोड, फिल्टर के पास वाली रोड बंधा में एवं नगर के मुख्य मार्गों में भी लोग सुबह और शाम खुले में शौंच कर रहे हैं फिर भी नपा ओडीएफ कैसे हो जाती है। बिना मानकों के और खुले में शौच होते हुए भी नगर को खुले में शौच से मुक्त कैसे घोषित कर दिया जाता है। गोहद नगर पालिका के पास सीवर टैंक से निकलने वाले मलवे का प्लांट में ट्रीटमेंट किया जाता है लेकिन गोहद नपा के पास ऐसी कोई व्यवस्था नही है उस मलबे को नपा कर्मचारी द्वारा कही भी फेंक दिया जाता है। इन सबके बावजूद भी गोहद नपा शौच मुक्त घोषित ही जाती है। क्या इसमें नगर पालिका पालिका और अन्य संस्थाओं की मिली भगत नजर आ रही है।
    इनका कहना है:
              नपा ने ओडीएफ के लिए आवेदन किया है। जल्द ही सर्वे शुरू किया जाएगा
    -विजय कोहली, नॉडल अधिकारी स्वच्छता गोहद
              नपा सर्वे एक दिन पहले ही क्यों मेंटिनेंस कार्य कर रही है जबकि सभी कार्य बहुत पहले होने चाहिए थे, जनता की सेवा से नपा को कोई मतलब नहीं है। इस उपरांत भी अगर गोहद ओडीएफ होता है तो यह नगर वासियों के साथ छलावा होगा।
    -राहुल शर्मा, नगरवासी गोहद
    Share on Google Plus

    About www.rubarunews.com

    This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
      Blogger Comment
      Facebook Comment

    0 comments:

    Post a Comment