• --New-- Click here to Watch News channel online.
  • लाखों श्रद्धालुओं ने किए दंदरौआ धाम पहुंचकर डॉ. हनुमान के दर्शन | Rubaru news
    Powered by Blogger.

    लाखों श्रद्धालुओं ने किए दंदरौआ धाम पहुंचकर डॉ. हनुमान के दर्शन


    भिण्ड10/सितम्बर/2019 (rubarudesk) @www.rubarunews.com>> जिले ऐतिहासिक दंदरौआ धाम पर बुढ़वा मंगल को संकट मोचन के दरवार में लाखों की संख्या में श्रद्धालुओ का भारी जन सैलाब उमड़ा। संकटों के निवारण करने वाले डॉक्टर हनुमान जी के दर्शनों मात्र से शरीर के सारे रोग कष्ट दूर हो जाते है, डॉक्टर हनुमान के दरवार में बुढ़वा मंगल को विशाल मेले का आयोजन किया गया, रात 12 बजे से श्रद्धालुओं को संकट मोचन के दर्शनों के लिए लगभग एक किमी की लंबी लाइन लगी रही जो दिनभर चटकती धूप में खड़े होकर श्रद्धालुओं ने डॉ. हनुमान के दर्शन किये। इसी तरह जिले के प्रसिद्ध धार्मिक स्थल श्री कांक्सी सरकार पर हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी सर्वप्रथम भगवान अंजनी पुत्र हनुमान की मंगलवार प्रात: 6 बजे श्री श्री 1008 महंत रामशरण दास महाराज के द्वारा महाआरती की गई व उसके बाद सामूहिक संगीतमय सुंदरकांड पाठ का भी आयोजन किया गया तत्पसच्यात प्रात: 6:30 बजे बाल भोग का वितरण किया गया उसके बाद फूल बंगला एवम् छप्पन भोग की मनोहर झांकी भी लगाई गई व् प्रात: 10 बजे से भव्य विशाल भंडारे का आयोजन हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी किया गया जिसमे हज़ारो की तादात में मप्र,उप्र व कई जगहों से आये हुए श्रद्धालुओं ने भोजन प्रशादी ग्रहण की,बताया जाता है की श्री कांक्सी सरकार का मन्दिर एक ऐसा रमणीक,मनोरम स्थल है जहां हर मंगलवार व् शनिवार को दर्शन करने के लिए भक्तो की कतार लगती है।              
    प्रसिद्ध धार्मिक स्थल दंदरौआ धाम में बुढ़वा मंगल पर लाखों की संख्या में श्रद्धालु दर्शन करने पहुंचे। यहां सोमवार की रात्रि 12 बजे से श्रद्धालु भक्तों का आना शुरू हो गया था। मंदिर परिसर में फूलबंगला की सजावट की गई। इस अवसर पर हनुमान चालीसा एवं राम चरित मानस का निरंतर पाठ चलता रहा। जिला एवं पुलिस प्रशासन ने मन्दिर परिसर में सुरक्षा के माकूल इंतजाम किए है। पैदल चलने वाले श्रद्धालुओं के लिए मेहगांव से लेकर दंदरौआ धाम तक रास्ते में जगह-जगह स्वल्पाहार शिविर भी लगे थे। जहां भक्तों के फलहार, चाय, पानी एवं भण्डारे की व्यवस्था की गई थी। दंदरौआ धाम में भी धमार्थ भण्डरे लगाए गए जिसमें पोरसा के भक्तों द्वारा मन्दिर परिसर में भण्डारे का आयोजन किया गया। जो सोमवार की शाम से शुरू हुआ और मंगलवार की रात्रि तक मालपुआ और सब्जी भण्डारे में श्रद्धालुओं को वितरण की गई।
    महंत रामदास महाराज ने श्रद्धालुओं को दिया आर्शीवचन
                 श्रीश्री 1008 महामण्डलेश्वर महंत रामदास महाराज ने श्रद्धालुओं को आशीर्वचन देते हुए कहा कि बुढ़वा मंगल के दिन हनुमान जी सीता जी की खोज करके बापिस लौटे थे। उन्होंने लंका में जाकर राक्षसों का मान मर्दन किया और लंका जलाकर बापिस लौटकर भगवान श्रीराम को सीता माता की खबर सुनाई, जिससे प्रसन्न होकर श्रीराम ने हनुमान को तिलक लगाकर पुष्पहार पहनकार उनका स्वागत किया। इस लिए बुढ़वा मंगल को रामभक्त हनुमान की पूजा का विशेष महत्व है। महाराश्री ने कहा कि दंदरौआधाम के सखी हनुमान जी आदि वैद्य हैं, इनके दर्शन मात्र से शरीर के विभिन्न रोगों का निवारण हो जाता है।
                                      बुढ़वा मंगल पर अन्य राज्यों से दर्शन करने आते हैं श्रद्धालु

                  दंदरौआ धाम के प्रवक्ता जलज त्रिपाठी ने बताया कि सोमवार की शाम ढलते ही जिले के अलावा ग्रेटर नोयडा, इटावा, औरेया, भरथना, कानपुर, लखनऊ, फिरोजाबाद, जालौन, मुरैना, दतिया, ग्वालियर, धौलपुर आदि जिलों के अलावा राजस्थान के कई जिलों से श्रद्धालु डॉक्टर हनुमान के दर्शन के लिए दंदरौआ धाम में पहुंचे और श्रीश्री 1008 महामण्डलेश्वर महंत रामदास महाराज से आशीर्वाद लिया।
    मजिस्ट्रेट की उपाधि से जाने जाते हैं श्री कांक्सी सरकार
                   मन्दिर के महाराज द्वारा बताया जाता है कि श्री कांक्सी सरकार मजिस्ट्रेट की उपाधि से जाने जाते हैं क्यूकि भक्तो का मानना है कि किसी के भी ऊपर कोट कचहरी का कैसा भी केश हो जो श्री कांक्सी सरकार के पास आकर एक बार सच्चे मन से अपनी अर्जी लगाते हैं मजिस्ट्रेट हनुमान उनकी मनोकामना जरूर पूरी करते हैं और इसका जीत जागता उदाहरण कई लोग देख भी चुके हैं,यह कांक्सी सरकार का मन्दिर हमारे भिंड जिले में ही नही बल्कि आसपास के मध्यप्रदेश व उत्तरप्रदेश के कई जिलो में भी जाना जाता हैं।
    सुरक्षा के लिए पुलिस जवान रहे तैनात
                  सुरक्षा व्यवस्था की दृष्टि से पुलिस अधीक्षक रूडोल्फ अल्बारेस के निर्देश पर करीब एक हजार पुलिस कर्मचारी मंदिर परिसर एवं उसके आसपास के इलाके में तैनात रहे। यातायात व्यवस्था के तहत मन्दिर पहुंचने के लिए तीन पहुंच मार्ग बनाए थे। इनमें मौ की ओर से आने वाले घमूरी, मेहगांव की ओर से आने वाले चिरौल एवं गोहद इलाके से आने वाले मडरौली की ओर से मन्दिर पहुंचे। यातायात में परेशानी नहीं आए इस दृष्टि से उक्त गांवों पर ही चार पहिया वाहन रोके गया जहां से श्रद्धालु पैदल मंदिर परिसर तक पहुंचे। इसी तरह लहार में स्थित कांक्सी सरकार पर पुलिस जवान तैनात किये गये।

    Share on Google Plus

    About www.rubarunews.com

    This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
      Blogger Comment
      Facebook Comment

    0 comments:

    Post a Comment